नई दिल्ली. देश में आम इंसान को एक और झटका लगने वाला है, जानाकारी के अनुसार पेट्रोल और डीजल की कीमतें आने वाले समय में 5 से 6 रुपये प्रति लीटर तक बढ़ सकती है. इसकी वजह है दुनिया के सबसे बड़े रिफाइनर अरामको के अबकैक प्लांट और सऊदी अरब के खुरास तेल क्षेत्रों पर ड्रोन हमले होना. हालांकि विश्लेषकों का कहना है कि आने वाले हफ्तों में मध्य पूर्व में भू-राजनीतिक स्थिति खराब होने तक तेल की कीमतें लंबे समय तक उच्च स्तर पर बने रहने की संभावना नहीं है.

सऊदी अरामको वैश्विक कच्चे तेल की 10 प्रतिशत की आपूर्ति करता है, इसलिए वैश्विक बाजारों और भारत में भी इसका असर होने जा रहा है. देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतें आने वाले समय में बढ़ सकती है. हालांकि इस मामले में सार्वजनिक क्षेत्र की तेल विपणन कंपनियां जैसे भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन (BPCL) और इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन (IOC) अभी तक कोई जवाब नहीं दे पाई हैं. लगभग 30 वर्षों में सबसे बड़ी छलांग हमलों की तत्काल प्रतिक्रिया में ब्रेंट क्रूड की कीमत इंट्राडे ट्रेड में लगभग 20% बढ़ गई थी. यह करीब 15 फीसदी बढ़कर 69 डॉलर प्रति बैरल पर बंद हुआ, जो चार महीने का उच्च स्तर है. मंगलवार सुबह से इसमें लगभग 2 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

इराक के बाद सऊदी अरब भारत का दूसरा सबसे बड़ा तेल आपूर्तिकर्ता है. भारत ने 2018/19 में कुल 207.3 मिलियन टन में से 40.33 मिलियन टन कच्चे तेल की खरीद की. भारत अपनी कच्चे तेल की जरूरतों का 80 प्रतिशत से अधिक आयात करता है. इस कारण विश्लेषकों का अनुमान है कि ब्रेंट की कीमतों में 10 डॉलर की बढ़ोतरी से भारतीय आयातों में 15 बिलियन डॉलर की बढ़ोतरी होगी और चालू खाते का घाटा 0.4-0.5 प्रतिशत तक बढ़ सकता है. 

विश्लेषकों का मानना है कि हमें सऊदी हमले के मध्यम अवधि के प्रभाव को ट्रैक करने के लिए यूएस-सऊदी सैन्य प्रतिक्रिया पर कड़ी नजर रखने की आवश्यकता है. यदि यमन में हौथी विद्रोहियों के प्रति प्रतिक्रिया को निर्देशित किया जाता है, तो तेल व्यापारियों और खरीदने वालों को चिंता करने की जरूरत नहीं है.

Petrol Diesel Price Today: देश में लगातार दो दिन से बढ़ रहे हैं पेट्रोल डीजल के दाम, जानें अपने शहर में तेल की कीमतें

Petrol Diesel Price Hiked In India After Budget 2019: बजट 2019 के बाद नरेंद्र मोदी सरकार ने बढ़ाए डीजल-पेट्रोल के दाम, दिल्ली में डीजल 2.36 और पेट्रोल 2.45 रुपया महंगा, जानें मुंबई, चेन्नई, कोलकाता समेत अन्य शहरों का नया रेट