नई दिल्ली. आजकल बहुत से लोगों के पास कई क्रेडिट कार्ड होते हैं. अगर आपकी अच्छी आय है तो कई क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना उतना मुश्किल नहीं है लेकिन कई क्रेडिट कार्ड रखने से बहुत से लोगों को बड़ी समस्या हो रही है. अधिकांश लोग जिनके पास कई क्रेडिट कार्ड हैं वे अपने सभी कार्डों पर उच्च क्रेडिट कार्ड बिलों को खत्म नहीं कर पाते हैं. ऐसे लोग अक्सर खुद कर्ज के जाल में फंस जाते हैं.

कभी-कभी संयुक्त क्रेडिट कार्ड बिल राशि कार्डधारकों की मासिक आय से अधिक होती है जो इस बात का संकेत है कि व्यक्ति जल्द ही कर्ज के दायरे में आ सकता है. क्योंकि क्रेडिट कार्ड के लिए भुगतान की एक न्यूनतम राशि निर्धारित है इसलिए कार्डधारक न्यूनतम राशि का भुगतान करते हैं और बची हुई रकम को आगे बढ़ाते हैं. इससे उनका कर्ज बढ़ता जाता है.

इससे जल्दी बाहर निकलने का तरीका
कम निवेश: अनपेड क्रेडिट कार्ड पर उच्च ब्याज दर लगती है. कभी-कभी ये ब्याज दरें सावधि जमा, डेट फंड, बॉन्ड, आदि जैसे फिक्स्ड इनकम इन्वेस्टमेंट इंस्ट्रूमेंट्स पर लागू ब्याज दरों से भी अधिक होती हैं. यदि आप क्रेडिट कार्ड के कर्ज के तहत दबे हैं, तो आप इस तरह के कम-उपज वाले निवेशों को भुनाकर अधिक पैसा बचा सकते हैं.

लंबी अवधि के निवेश पर ऋण: यदि आपके पास पीपीएफ खाता है तो आप खाता खोलने के तीसरे वित्तीय वर्ष से छठे वित्तीय वर्ष तक ऋण लेने के लिए योग्य हैं. पीपीएफ के खिलाफ ऋण पीपीएफ खाते की शेष राशि पर अर्जित ब्याज से 2 प्रतिशत अधिक वसूला जाता है. ऋण को 36 महीनों के भीतर चुकाना पड़ता है, जिसमें आपको 6 प्रतिशत अधिक ब्याज देना पड़ता है.

क्रेडिट कार्ड बैलेंस ट्रांसफर: कई बैंक और क्रेडिट कार्ड कंपनियां कार्डधारकों को मौजूदा क्रेडिट कार्ड के अपने बकाया शेष राशि को कम ब्याज दर पर दूसरे क्रेडिट कार्ड में ट्रांसफर करने का विकल्प प्रदान करती हैं. यह कम ब्याज दर के साथ सहायक है. इसे कार्डधारक नियत समय पर आसानी से चुकाने में सक्षम होगा.

नियोक्ता से ऋण: कुछ कंपनियां अपने कर्मचारियों को कम ब्याज दरों पर नियोक्ता से ऋण लेने की सुविधा देती हैं. इस प्रकार के ऋणों को कंपनी की नीति के अनुसार हर महीने कर्मचारी के वेतन में से ले लिया जाता है. आप इस ऋण का उपयोग अपने क्रेडिट कार्ड बिल ऋण का भुगतान करने के लिए कर सकते हैं.

पेडे ऋण: पेडे ऋण विदेशों में बहुत लोकप्रिय था और अब भारत में भी लोकप्रिय हो रहे हैं. हालांकि पेडे लोन की ब्याज दर व्यक्तिगत ऋणों की ब्याज दर से भी ज्यादा है लेकिन ये तत्काल उपलब्धता के कारण सुविधाजनक है. इसके तहत 5,000 रुपये से कम राशि उधार ले सकते हैं. राशि प्राप्त करने के लिए आपको बस अपनी वेतन पर्ची, बैंक विवरण, पैन कार्ड कॉपी और कुछ अन्य चीजें चाहिए.

SBI Internet Online Banking: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया एसबीआई के कस्टमर ऑनलाइन बैंकिंग के समय इन बातों का जरूर रखें ध्यान, रहेंगे सुरक्षित

ICICI FD Xtra: आईसीआईसीआई बैंक ने लॉन्च की एफडी एक्स्ट्रा, कई तरह की फिक्सड डिपॉजिट और आरडी से मिलेंगे अनोखे फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App