जम्मू. जम्मू कश्मीर की एकदिवसीय यात्रा के दौरान जम्मू यूनवर्सिटी में गिरधारी लाल डोगरा शताब्दी समारोह में प्रधानमंत्री ने कहा कि आजकल लोग नेताओं को कुछ ही दिनों में भुला देते हैं लेकिन गिरधारी जी उनमें से हैं जो मरने के बाद भी जीवित रहते हैं. 

मोदी ने आगे कहा कि डोगरा साहब को व्यक्तियों की परख अच्छी रही होगी, बराबर नाप लेते होंगे कि व्यक्ति सही है या नहीं, उसका उदाहरण है कि उन्होंने जो दामाद चुना. मोदी ने आगे कहा कि अरुण जेटली की विचारधारा और डोगरा जी की विचारधारा का कोई मेल नहीं थी, लेकिन दामाद ससुर के कारण और ससुर दामाद के कारण नहीं जाने जाते बल्कि अपने कामों के लिए जाने जाते हैं. 

परिवादवाद पर हमला बोलते हुए PM मोदी बोले, ‘अरुण जेटली ने ससुर के नाम का सहारा नहीं लिया, आप जानते हैं कि दामाद आजकल क्या-क्या करते हैं. डोगरा जी आज होते तो हमारा विरोध करते, शायद अपने दामाद का भी करते.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App