नई दिल्ली. कांग्रेस के हलफनामे के बाद राजस्थान की सीएम वसुंधरा राजे की मुश्किलें और बढ़ गयीं है. हलफनामे में वसुंधरा की और से ललित मोदी का पूरा सपोर्ट किया गया है. यहां तक कि वसुंधरा ने ललित मोदी के अपमान को अपना अपमान बताया है. हालांकि वसुंधरा ने यह हलफनामा इस शर्त पर दिया था कि भारत में इसका किसी को पता नहीं लगना चाहिए. इसमें उन्होंने भारत की आंतरिक राजनीतिक स्थिति पर भी टिप्पणियां की हैं. यह डॉक्युमेंट 18 अगस्त, 2011 का है.

कांग्रेस की हार की भविष्यवाणी भी की थी
इस दस्तावेज में राजे ने 2014 के लोकसभा चुनाव में यूपीए की हार की भविष्यवाणी करते हुए कहा है कि कांग्रेस की लोकप्रियता ‘बहुत घट रही है’ और ‘सत्ता विरोधी लहर’ के कारण को देखते हुए इस बात की ‘वास्तव में संभावना’ है कि यूपीए सरकार से बाहर हो जाएगी.  उनका कहना था कि कांग्रेस राजस्थान को बरकरार रखने को केंद्र सरकार में अपने लिए बने रहने के लिहाज से महत्वपूर्ण मानती है. उन्होंने भारतीय राजनीतिक स्थिति को ‘तेजी से क्षेत्रवाद’ में बदलता हुआ करार दिया था. इस हलफनामे में कहा गया है कि इस कारण से 2 मुख्य राजनीतिक दल बीजेपी और कांग्रेस की लोकप्रियता दक्षिणी भारत के बहुत से राज्यों में गिर रही है.

वसुंधरा ने दलील दी कि कांग्रेस मोदी से जलती है 
वसुंधरा ने खुद को कांग्रेस और अशोक गहलोत की अगुवाई वाली तत्कालीन राजस्थान सरकार का एक ‘प्रमुख राजनीतिक निशाना’ बताया था. उन्होंने कहा था कि ललित मोदी की सफलता से क्रिकेट जगत और कांग्रेस पार्टी के बहुत से वरिष्ठ नेता जलते हैं और दुश्मनी रखते हैं. उस समय राजस्थान में विपक्ष की नेता वसुंधरा ने ब्रिटेन की अदालत को बताया था कि 2008 में उनकी हार के तुरंत बाद ललित मोदी को कांग्रेस के समर्थन वाले लोगों ने राजस्थान क्रिकेट से बाहर कर दिया था. हलफनामे के मुताबिक, ‘2009 और 2010 में ललित मोदी राजस्थान में गलत आपराधिक मामलों का सामना कर रहे थे। मुझे इस बात में कोई शक नहीं है कि ये मामले राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस पार्टी के सक्रिय या अप्रत्यक्ष समर्थन से ललित मोदी और मेरे खिलाफ दुष्प्रचार करने के लिए शुरू किए गए थे.’ 
‘मोदी पर आरोप लगाकर उन्हें बदनाम किया जा रहा है’
इसमें अंत में कहा गया है, ‘ललित का अपमान कर और उन्हें नुकसान पहुंचाकर, कांग्रेस पार्टी राजनीतिक तस्वीर से मेरे प्रमुख समर्थकों में से एक को हटाने की उम्मीद कर रही है. ऐसा करने से वे मेरा भी अपमान करने की कोशिश कर रहे हैं.’ आईपीएल की सफलता का श्रेय ललित मोदी को देते हुए वसुंधरा ने कहा था, ‘राजस्थान में खेलों के प्रशासन में सुधार पर काम करते हुए ललित मोदी ने बहुत से पुराने और वंशों से जुड़े और राजनीतिक ढांचों को तोड़ा है, जिनसे भारत में क्रिकेट कई वर्षों तक पिछड़ा रहा है.’

एजेंसी इनपुट भी

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App