नई दिल्ली. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर केंद्र सरकार, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और दिल्ली के उप राज्यपाल (एलजी) नजीब जंग पर गंभीर आरोप लगाए हैं. एक टीवी न्यूज चैनल को दिए अपने इंटरव्यू में केजरीवाल ने पीएम को सीधे चुनौती देते हुए कहा, ‘मोदी जी मुझे राहुल गांधी न समझें, मैं पांच साल सरकार चलाकर दिखाऊंगा.’ दिल्ली के सीएम ने सूबे के एलजी के रवैये पर नाराजगी जताते हुए कहा, ‘अगर अमित शाह का चौकीदार या चपरासी भी एलजी को बुलाए तो वे रेंगते हुए वहां जाएंगे.’

केजरीवाल ने एक सवाल के जवाब में कहा, ‘दिल्ली में जो चल रहा है, उसके बारे में यहां का हर आदमी जानता है कि सब मोदी जी करा रहे हैं. वे केजरीवाल को काम करने नहीं देना चाहते.’

मैंने रोका मोदी की जीत का घोड़ा
केजरीवाल ने कहा कि बीजेपी आम आदमी पार्टी से डरती है. उनके मुताबिक, ‘जिस तरह लोकसभा चुनावों के बाद हरियाणा, महाराष्ट्र, झारखंड जीत कर आए तो उन्हें लगा कि दिल्ली भी अपनी है, लेकिन दिल्ली में हमने उनकी जीत का घोड़ा रोक दिया अब केंद्र सरकार और मोदी जी इसी बात का बदला ले रहे हैं. उन्हें डर लगता कि दूसरे राज्य भी कहीं दिल्ली की तरह न हो जाएं.’ केजरीवाल के मुताबिक, ‘यही वजह है कि उन्हें हर 2-3 घंटे में एलजी ऑफिस से नया लव लेटर आ जाता है. कभी इस बात पर नोटिस तो कभी उस बात पर नोटिस. वे हमें सरकार चलाने देना नहीं चाहते हैं, लेकिन मैं आपको बता देना चाहता हूं कि मैं दिल्ली की जनता और केंद्र के इरादों में बीच में एक दीवार की तरह खड़ा हूं. दिल्ली की जनता को किसी भी तरह परेशान नहीं होने दूंगा.’

दिल्ली में सरकार हम चलाएंगे
केजरीवाल के मुताबिक, ‘एलजी साहब बीजेपी से मिले हुए हैं. ऐसी हर एक बात को आए दिन मुद्दा बनाया जा रहा है. वे कहते हैं कि हम ना हाई कोर्ट का ऑर्डर मांनेंगे न संविधान को मानेंगे. जो हम करना चाहते हैं, वैसा ही करेंगे तो दिल्ली में ऐसा नहीं चलेगा. जनता ने हमें चुना है. दिल्ली में हमारी सरकार है और सरकार हम चलाएंगे.’

बीजेपी का नया हेडक्वॉर्टर बन गया है एलजी हाउस
केजरीवाल ने उप राज्यपाल पर भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि वे बीजेपी के पोलिंग एजेंट की तरह व्यवहार कर रहे हैं. केजरीवाल के मुताबिक, ‘एलजी हाउस दिल्ली में बीजेपी का दूसरा हेडक्वॉर्टर बन गया है. केजरीवाल ने कहा, ‘मेरी एलजी साहब से कोई पर्सनल लड़ाई नहीं है.’

IANS से भी इनपुट 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App