Thursday, August 11, 2022

उद्धव ठाकरे ने दिया इस्तीफ़ा, विधानपरिषद सदस्यता और सीएम पद छोड़ा

मुंबई, महाराष्ट्र की सियासत में शिवसेना का दबदबा ख़त्म हो गया है. उद्धव ठाकरे ने सीएम पद से इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने ये ऐलान फेसबुक लाइव पर किया है. जहां उद्धव ठाकरे ने न सिर्फ महाराष्ट्र के सीएम पद से बल्कि विधानपरिषद से भी इस्तीफ़ा दे दिया है. उन्होंने कहा, कि उन्हें इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता की किसके पास कितनी संख्या में बहुमत है. उन्हें सीएम का पद नहीं चाहिए उन्हें शिवसेना चाहिए. उन्होंने कहा कि वह ये बिल्कुल नहीं चाहते कि किसी भी शिवसैनिक का खून बहे.

भावुक हुए ठाकरे

उद्धव ठाकरे ने कहा हमारे कार्यकर्ताओं ने मेहनत की है. सोनिया और शरद पवार को धन्यवाद करते हुए ठाकरे कहते हैं कि उनके लिए जिनको जो देना संभव था उन्होंने वो दिया. बागी विधायकों पर ठाकरे ने कहा, जिनको हमने सब कुछ दिया वो नाराज़ हैं और जिनको कुछ भी नहीं दिया वो हमारे साथ हैं. राज्यपाल ने फ्लोर टेस्ट के लिए कहा है और सुप्रीम कोर्ट ने भी इसे अपनी मंजूरी दी है. राज्यपाल को धन्यवाद कि खत मिलते ही उन्होंने फ्लोर टेस्ट को हां कर दिया.

बागियों पर किए सवाल

आगे सीएम ठाकरे ने कहा, बागियों की नाराज़गी किस बात की है? अगर उन्हें नाराज़गी थी तो मुझे आकर बताते. उन्होंने सूरत और गुवाहाटी जाकर अपनी नाराज़गी जताई. आगे उद्धव ठाकरे कहते हैं कि शिवसैनिकों को नोटिस भेजा जा रहा है. केंद्र के निर्देश पर शिवसैनिकों पर रोक लगाई जा रही है. फ्लोर टेस्ट पर उद्धव ठाकरे ने कहा, किसके पास कितनी संख्या है मुझे उससे मतलब नहीं है. शायद वो (शिंदे गुट) कल बहुमत भी साबित कर दें. उद्धव ठाकरे आगे कहते हैं कि “मुझे सीएम पद छोड़ने का कोई दुःख नहीं है.

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news