Friday, December 9, 2022
गुजरात नतीजे (182/182)  हिमाचल नतीजे (68/68) 
BJP - 156 BJP - 25
AAP - 05 CONG - 40 
CONG - 17  AAP - 00
OTH - 04  OTH - 03 
MG 4 EV

नए साल पर पेश होने वाली है ये इलेक्ट्रिक कार, मिलेगी 452km की रेंज!

0
MG 4 EV: देश की कार कंपनी एमजी मोटर इंडिया (MG Motor India) अगले साल के आगाज़ में एकदम नई इलेक्ट्रिक कार पेश करेगी।...

Gujarat Muslim Seats: जानिए क्या है गुजरात की मुस्लिम बहुल्य सीटों का हाल?

0
Gujarat Muslim Candidates: गुजरात विधानसभा के नतीजों के बाद साफ़ है कि भारतीय जनता पार्टी ने भारी बढ़त के साथ जीत हासिल की है....

लखनऊ: इकाना में होगी भारत न्यूजीलैंड की टक्कर, क्या है टी-20 सीरीज का शेड्यूल?

0
लखनऊ: सूबे की राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर विस्तार में शहीद पथ स्थित भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी इकाना अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट स्टेडियम में एक बार...

रामपुर में पहली बार बनी भाजपा की सरकार, आकाश सक्सेना को मिली शानदार जीत

0
रामपुर। उत्तर प्रदेश के रामपुर जिले की सदर विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने आकाश सक्सेना पर भरोसा कर प्रत्याशी बनाया था,जो एक...
Car Loan Tips

गाड़ी खरीदारों के लिए 20-10-4 फॉर्मूला है बेहद कारगर, जानिए इस तरीके को

0
Car Loan Tips: हर किसी के लिए कार खरीदना आसान नहीं है. इसके लिए आपको काफी पैसा खर्च करना पड़ता है. ऐसे में हर...

ईडी अधिकारियों ने शिवसेना सांसद संजय राउत को हिरासत में लिया

मुंबई, संजय राउत को प्रवर्तन निदेशालय ने आखिरकार रविवार को शिवसेना सांसद संजय राउत को गिरफ्तार कर लिया, पिछले 8 घंटे से ईडी उनके घर पर छानबीन कर रही थी, बता दें ईडी ने यह छापेमारी पात्रा चॉल घोटाले से जुडे़ मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में की थी. रविवार को ED की टीम सुबह 7 बजे राउत के भांडुप स्थित घर पर छापेमारी करने पहुंची थी.

ईडी की टीम के पहुंचने के बाद राउत के वकील भी उनके घर पहुंच गए थे, उनके घर के बाहर काफी समर्थक भी जमा हो गए थे. साथ ही ईडी ने संजय राउत पर जांच में सहयोग न करने का आरोप लगाया था.

क्या है पात्रा चौल ज़मीन घोटाला

पात्रा चॉल जमीन घोटाले की शुरुआत साल 2007 से हुई, महाराष्ट्र हाउसिंग एंड डिवलपमेंट अथॉरिटी यानी म्हाडा, प्रवीण राउत, गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन और हाउसिंग डेवलपमेंट एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (HDIL) की मिली भगत से यह घोटाला किया गया, साल 2007 में म्हाडा ने पात्रा चॉल के रिडिवेलपमेंट का काम गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन को सौंपा, यह कंस्ट्रक्शन गोरेगांव के सिद्धार्थ नगर में होना था. म्हाडा की 47 एकड़ जमीन में कुल 672 घर बने हैं, जबकि रीडिवेलपमेंट के बाद गुरु आशीष कंपनी को साढ़े तीन हजार से ज्यादा फ्लैट बनाकर देने थे और म्हाडा के लिए फ्लैट्स बनाने के बाद बची हुई जमीन को प्राइवेट डिवलपर्स को बेचना था. लेकिन 14 साल के बाद भी कंपनी ने लोगों को फ्लैट बनाकर नहीं दिए.

क्या है संजय राउत का कनेक्शन

गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन ;पर आरोप है कि फ्लैट बनाने की बजाए इन्होने 47 एकड़ जमीन को आठ अलग-अलग बिल्डरों को बेच दी थी, इससे कंपनी ने 1034 करोड़ रुपये कमाए थे. वहीं मार्च 2018 में म्हाडा ने गुरु आशीष कंस्ट्रक्शन के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई थी. मामला आर्थिक अपराध विंग यानी EOW को सौंपा गया. EOW ने फरवरी 2020 में प्रवीण राउत को गिरफ्तार कर लिया, बताया जाता है कि प्रवीण राउत, संजय राउत के बहुत करीबी थे और वह एचडीआईएल में सारंग वधावन और राकेश वधावन के साथ कंपनी में निदेशक थे. वधावन बंधु PMC बैंक घोटाले के मुख्य आरोपी हैं, हालांकि प्रवीण राउत को कोर्ट ने जमानत दे दी लेकिन पीएमसी बैंक घोटाले के मामले में प्रवीण को ईडी ने गिरफ्तार कर किया.

संजय राउत की पत्नी का कनेक्शन

प्रवीण राउत को ईडी ने गिरफ्तार कर उनसे पूछताछ की थी, इसके बाद इस मामले में सुजीत पाटकर का नाम आया, फिर जब ईडी ने सुजीत पाटकर के ठिकानों पर छापेमारी की तो छापेमारी में कई अहम दस्तावेज मिले. ईडी की जांच में सामने आया कि प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी राउत ने संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को एक लोन दिया था और यह लोन 55 लाख रुपये का था लेकिन बैंक में बिना कोई दस्तावेज दिए ये लोन पास हो गया. बैंक से लिए गए 55 लाख रुपयों से वर्षा राउत ने दादर में एक फ्लैट खरीदा और इस फ्लैट के सिलसिले में ईडी ने वर्षा राउत से पूछताछ की.

Mann Ki Baat: पीएम मोदी की देशवासियों से अपील- 15 अगस्त तक अपनी प्रोफाइल पिक्चर पर लगाएं तिरंगा

Latest news