पटना. बिहार में विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण के मतदान से ठीक पहले बीजेपी ने ‘गाय’ के जरिए नीतीश को घेरने की कोशिश की है.  आज अखबारों में बीजेपी की ओर से एक विज्ञापन प्रकाशित कर नीतीश से सवाल किया गया है कि आरजेडी चीफ लालू प्रसाद यादव के गाय का अपमान करने के बाद भी नीतीश चुप क्यों हैं.
 
इस ऐड में नीतीश कुमार को उनके महागठबंधन साथियों द्वारा बीफ (गाय के मांस) को लेकर किए गए बयानों के लिए ‘लताड़ा’ गया है. ऐड में एक महिला गाय को गले लगाए हुए भी दिखाई जा रही है. बीजेपी अपनी इस ऐड में पूछ रही है कि नीतीश कुमार गठबंधन के साथियों द्वारा ‘गाय की बार बार बेइज्जती’ पर कुछ कहते क्यों नहीं हैं? ऐड के मुताबिक, वोट बैंक की राजनीति बंद कीजिए और जवाब दीजिए. ऐड में आरजेडी के मुखिया लालू प्रसाद यादव और दो और नेताओं के बयान सूचीबद्ध तरीके से पेश किए गए हैं.
 
पहले भी 2 विज्ञापन हुए थे बैन 
गौरतलब है कि संघ प्रमुख मोहन भागवत के आरक्षण पर बयान के बाद बीजेपी ने मुस्लिम आरक्षण को मुद्दा बनाया और कहा कि महागठबंधन दलितों का आरक्षण कम कर धार्मिक आधार पर आरक्षण देने की तैयारी में है. इससे जुड़े विज्ञापन पर महागठबंधन ने आपत्ति जताई और चुनाव आयोग से शिकायत की थी. इस शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने बिहार चुनाव में बीजेपी के दो विज्ञापनों को प्रतिबंधित कर दिया था.
 
 
केजरीवाल ने ऐड पर उठाए सवाल
दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर वोटिंग से एक दिन पहले ऐसा ऐड देने पर सवाल खड़े किये हैं:
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App