पटना. बिहार में चुनाव के मौके पर स्टिंग ऑपरेशन से सनसनी मचा रही एक्स फाइल नाम की एजेंसी के पीछे कौन लोग हैं, ये अब तक एक रहस्य है. इसके सारे शिकार नीतीश कुमार या लालू यादव की पार्टी के नेता हैं जिससे इस बात का शक गहरा रहा है कि ये विरोधी कैंप की रणनीति का हिस्सा है.
 
एक्स फाइल नाम की यह खुफिया और रहस्यमयी एजेंसी महागठबंधन की अगुवाई कर रहे नीतीश और लालू की पार्टी के नेताओं को टार्गेट करके स्टिंग कर रही है और उस वीडियो को यू-ट्यूब पर डाल दे रही है. इससे आगे का काम एनडीए की मीडिया मैनेजमेंट टीम करती है.
 
 
एक्स फाइल की स्टिंग का लेटेस्ट शिकार बने हैं कुर्था से जेडीयू विधायक सत्यदेव कुशवाहा जो एक बिजनेसमैन को सरकार बनने पर मदद के बदले एडवांस में 2 लाख रुपए की रिश्वत ले रहे हैं और ये भी कह रहे हैं कि इतने से क्या होगा. 
 
गुमनाम एजेंसी के गुरिल्ला स्टिंग का टार्गेट महागठबंधन
 
पिछे राउंड के स्टिंग में फंसने के बाद नीतीश सरकार में मंत्री रहे अवधेश कुशवाहा को सरकार से इस्तीफा देना पड़ा था और पार्टी ने उनकी उम्मीदवारी भी वापस ले ली. उस राउंड में अवधेश कुशवाहा के अलावा एक्स फाइल ने आरजेडी नेता मुंद्रिका सिंह यादव और सूबेदार दास को भी कैद किया था.
 
एक्स फाइल का कोई अपना यू-ट्यूब चैनल नहीं हैं. इस एजेंसी ने पिछली बार नीतीश के मंत्री अवधेश कुशवाहा और आरजेडी नेता व पूर्व मंत्री मुंद्रिका यादव का स्टिंग फाइल जयहिंद बिहार नाम से बनाए गए यू-ट्यूब चैनल पर डाला था. इस बार एजेंसी ने नीतीश लालू स्टिंग बिहार नाम से चैनल बनाकर वीडियो डाला है. हालांकि इस चैनल पर पहले के दोनों स्टिंग का वीडियो है.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App