पटना. राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के अध्यक्ष लालू प्रसाद ने मराठी नहीं बोलने वालों को ऑटोरिक्शा चलाने का परमिट नहीं देने के महाराष्ट्र सरकार के आदेश की गुरुवार को कड़ी आलोचना की. उन्होंने कहा कि जो लोग बिहार के लोगों को ऑटोरिक्शा नहीं चलाने देंगे, उन्हें बिहार चलाने का मौका कैसे दिया जाएगा. 
 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को आड़े हाथ लेते हुए लालू ने कहा, ‘आप वहां हमारे लोगों को गाड़ी नहीं चलाने देते और आपको हम बिहार में सरकार चलाने देंगे?’ पूर्व रेलमंत्री ने सोशल साइट फेसबुक के अपने वॉल पर लिखा, ‘बिहारियों को हिंदीभाषी होने के कारण तुम महाराष्ट्र में गाड़ी नहीं चलाने देते, तो बिहारी क्या दो गुजरातियों को बिहार में सरकार चलाने देंगे?’ लालू का इशारा मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तरफ है.
 
लालू ने प्रधानमंत्री को सलाह देते हुए आगे लिखा, ‘टीम इंडिया की खोखली बात करने वाले प्रधानमंत्री जी दूसरों को प्रवचन देने से पहले अपने थोपे हुए मुख्यमंत्री को तो इसका मतलब और महत्व समझा देते.’ वहीं बीजेपी पर निशाना साधते हुए उन्होंने आगे लिखा, ‘जब हम गरीब, वंचित, उपेक्षित, उत्पीड़ित की बात करें तो विकास विरोधी और जब गैर-बराबरी, सामाजिक एवं आर्थिक असमानता व जातिगत विषमता को जड़ से समाप्त करने की बात करें तो जातिवादी हो जाते हैं. बीजेपी के इस दोहरे चाल, चरित्र एवं चेहरे को बिहार की न्यायप्रिय जनता मुंहतोड़ जवाब देगी.’ गौरतलब है कि महाराष्ट्र की बीजेपी सरकार ने आदेश जारी किया है कि एक नवंबर से मुंबई में सिर्फ मराठी बोलने वालों को ही ऑटोरिक्शा चलाने का परमिट मिलेगा. बिहार के हजारों लोग मुंबई व महाराष्ट्र के दूसरे शहरों में ऑटोरिक्शा चलाकर गुजारा करते हैं.