पटना. बिहार में सत्ता हासिल करने की लड़ाई में भारतीय जनता पार्टी एक तरफ चारा घोटाले को जोर-शोर से याद दिला रही है तो दूसरी तरफ चारा घोटाले में ही दोषी ठहराए गए पूर्व सांसद आरके राणा के बेटे और पूर्व विधायक अमित राणा को पार्टी की सदस्यता दे रही है.

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय ने आरजेडी के पूर्व सांसद आरके राणा के बेटे अमित राणा को पार्टी की सदस्यता दी है. अमित राणा खुद भी विधायक रह चुके हैं.

पार्टी ने अमित राणा के अलावा आरजेडी की सरकार में मंत्री रहे महावीर प्रसाद के बेटे रतन कुमार तुलसी को भी पार्टी में शामिल कर लिया है. इन दोनों के साथ ही पूर्व विधायक पप्पू मिश्रा और कृष्णदेव यादव को भी बीजेपी ने सदस्यता दी है.

पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष मंगल पांडेय ने इस मौके पर कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लहर की वजह से आरजेडी और जेडीयू के नेताओं में भगदड़ मची हुई है. पांडेय ने दावा किया कि दोनों पार्टियों के दर्जनों विधायक बीजेपी के संपर्क में हैं.

आरजेडी के पूर्व सांसद आरके राणा को 2013 में रांची की विशेष अदालत ने चारा घोटाला के एक मामले में पांच साल की सजा और 30 लाख जुर्माने की सजा दी थी.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App