नई दिल्ली. भारतीय संस्कृति काफी पुरानी संस्कृति है. यहां प्राचीन काल से ही मंदिर जाने की परम्परा रही है. भारतीय संस्कृति में मंदिरों का सिद्धांत ज्ञान व साधना के केंद्र के रूप में रहा है. पुराने जमाने में लोग मन की शांति के लिए मंदिर जाते थे. प्राचीन काल में मंदिर रोगों को ठीक करने के लिए थे, संस्कृति सिखाने के लिए थे, मनोविकारों को ठीक करने के लिए थे. 
 
भारत में आज भी लोग साधना व मन की शांति के लिए मंदिर जाते हैं. मंदिर केवल भारत में ही नहीं हैं बल्कि दुनिया के कई ऐसे देश हैं जहां लोग भगवान की आराधना के लिए मंदिर जाते हैं. दुनिया के कई ऐसे देश हैं जहां भगवान की पूजा की जाती है, जहां लोग मन की शांति के लिए मंदिर में अराधना करते हैं.
 
इंडिया न्यूज़ के खास शो भारत पर्व में अत्याधमिक गुरू पवन सिन्हा बताएंगे कि भारत के अलावा किन देशों में किस तरह से पूजे जाते हैं भगवान.