नई दिल्ली: 2 अकटूबर 2014 को देश भर में स्वच्छता अभियान की भारत में एक राष्ट्रिय आंदोलन के तौर पर शुरुआत हुई. लेकिन कई जगहों पर लोग इस मुहिम को अनदेखा कर रहे हैं.
 
स्वच्छता मिशन को जन-जन तक पहुंचाने के लिए भारत की एक बेटी अपना पूरा दमखम लगा रही है. स्वच्छता की ‘साइलेंट’ एंबेसडर मोनिका ने स्वच्छता को लोगों तक पहुंचाने का मिशन बनाया है. मोनिका खन्ना गुलाटी स्वच्छता को मिशन को घर-घर तक पहुंचाना चाहती है.
 
मोनिका का मिशन है देश भर में स्वच्छता फैलाना. मोनिका का कहना है कि कूडे पर राजनीति नहीं, क्रांति होनी चाहिए. उनका कहना है कि कूड़े के साथ सेल्फी लेने से बात नहीं बनने वाली.
 
हरियाणा के गुड़गांव में रहने वाली मोनिका ने सोशल साइट के जरिए स्वच्छता का एक बड़ा अभियान चलाया है. सफाई करना एक नैतिक शिक्षा है जो कि किसी भी इंसान को बचपन में ही सीखा दिया जाता है और मोनिका उसी बचपन में मिली सीख को आगे बढ़ा रही हैं.
 
देश की सरकार लाखों-करोंड़ों रुपये कूड़े को दूर करने के लिए खर्च कर रही हैं लेकिन ये तब तक संभव नहीं है जब तक देश का हर एक नागरिक इससे ना जुड़े. इस बात को लोगों तक पहुंचाने के लिए मोनिका वर्कशॉप के जरिए लोगों को कूड़े पर जागरुक करती है.
 
वीडियो में देखें पूरा शो…

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर