नई दिल्ली: कभी कभी छोटी उम्र के बच्चे बड़ो बड़ो को हैरान कर देते है वैसे भी उम्र कामयाबी की मोहताज नहीं होती. इस बाल कलाकार का रूहानिका धवन नाम तो आपने सुना ही होगा. जो इन दिनों स्टार प्लस के शो ‘ये है मोहब्बतें’ में पहले रूही और अब पीहू के किरदार में लीड रोल में है. बेटियों में आज इसी मासूम बेटी की कहानी है जिसने छोटी सी उम्र में अपनी अदाकारी और कामयाबी से बड़े बड़े को हैरान कर दिया.
 
 
रूहानिका धवन को आप रुही कहें पीहू कहें या फिर आशी, जब जैसा किरदार मिला रूहानिका धवन ने उसे छोटे पर्दे पर साबित किया. तभी तो इडियन टेली अवार्ड की जूरी ने रूहानिका धवन को साल 2014 में मोस्ट पापुलर चाइल्ड आरिटिस्ट के तौर पर सम्मानित किया.
 
 
रूहानिका धवन को ना सिर्फ इंडियन टैली अवार्ड साल 2014 और 2015 में लगातार दो साल स्टार परिवार अवार्ड जीता. 2014 में रूहानिका को ये है मोहब्बतें में स्टार परिवार रिश्ता नई सोच का के लिए अवार्ड मिला और 2015 में फेवरिट छोटे सदस्य का अवार्ड मिला.
 
 
10 साल की रूहानिका ने सात साल की उम्र में ही छोटे पर्दे के बड़े सम्मान अपनी झोली में डाले. ये ऐसी उम्र है जब बच्चे अपना नाम पता तक ठीक से नहीं बता पाते लेकिन इस छोटी सी उम्र में ही रूहानिका ने अपनी जिंदगी की दिशा तय कर ली.
 
 
रूहानिका ने साल 2012 में जी टीवी के शो ‘कौशिक की पांच बहुए’ में आशी के किरदार से अपने करियर की शुरुआत की थी. कौशिक की पांच बहुए में आशी यानि रूहानिका ने इतना शानदार परफारमेंस किया कि दर्शकों के साथ साथ रूहानिका ने निर्माता निर्देशकों के दिल में भी अपनी जगह बना ली. उसके बाद रुहानिका को स्टार प्लस के शो ये है मोहब्बते के लिए ऑफर आया. 
 
 
ये बात है साल 2013 की है जब रूहानिका को रमन भल्ला की बेटी का किरदार निभाना था. दरअसल ये है मोहब्बते में एक परिवारिक पृष्ठभूमि पर बनी कहानी है. जिसमें किरदार के तौर पर रमन भल्ला है. इशिता है रूही है और सगुन है. रूही रमन और सगुन की बेटी है. लेकिन वैचारिक मतभेद के चलते रमन और सगुन अलग अलग हो जाते है और रमन रूही को लेकर अलग हो जाता है.
 
 
कहानी को कुछ इस तरह बुना गया था कि रमन और इशिता एक दूसरे से नफरत करते है लेकिन रमन रूही के लिए इशिता से शादी कर लेता है क्योकि रूही इशिता को पसंद करती है और फिर रूही रमन और इशिता के बीच जो दरार है उसे कम करने की कोशिस करती है. इस कोशिस के दौरान रूही ने जो अदाकारी की है वो बेजोड़ है.
 
 
रूहानिका यानि रुही की पापुलेरिटी का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि सीरियल में जब रूही का किरदार बड़ा हो गया तो प्रोड्यूसर और डायरेक्टर ने रूही को दोबारा सीरियल में लाने के लिए स्क्रिप्ट में बड़े बदलाव किए और सरोगेसी के जरिए सगुन से इशिता ने एक बेटी को जन्म दिया. जो पीहू के तौर पर सामने आई और पीहू बनी एक बार फिर रूहानिका धवन.
 
 
ये है मोहब्बते में रुही को पसंद करने वाली एक ऑडियेंस थी. जिसे शो के प्रोड्यूसर रूही के ना होने की वजह से जाने नहीं देना चाहते थे. यही वजह रही कि रूही को पीहू के तौर पर दोबारा सीरियल में एन्ट्री दी गई. रूहानिका यू तो देश की राजधानी दिल्ली में जन्मी है. लेकिन अब उनका पूरा परिवार मुंबई में रहता है. 25 सितंबर 2007 रूहानिका का बर्थ डेट है. मुंबई में रूहानिका अपने मम्मी पापा और नानी के साथ रहती हैं.  
 
 
दिल्ली के पंजाबी परिवार की रूहानिका पंजाबी नहीं बोल पाती हैं लेकिन हां अग्रेजी में रूहानिका का कोई हाथ नहीं पकड़ सकता. एक्टिंग के दौरान रूहानिका बेशक हिन्दी में डॉयलाग बोलती है लेकिन सेट के पीछे रूहानिका अपने को स्टार्स से इंगलिश में ही बात करती है.
 
 
रूहानिका को स्कूल जाना बेहद पसंद है इसीलिए रूहानिका ने सीरियल की हैक्टिक शूटिंग के शेड्यूल के बावजूद अपनी क्लासेस कभी मिस नही की. रूहानिका मुंबई के आईजीएसी स्कूल में पढती है. 9 साल की रूहानिका फिलहाल फोर्थ क्लास में है.
 
 
सीरियल की शूटिंग के लिए रूहानिका स्कूल के बाद जाती हैं. शाम पांच बजे से रात के नौ बजे तक रूहानिका की शूटिंग होती है औऱ बाकी का वक्त रुहानिका अपनी पढाई में देती है. मल्टी टेलेंटेड रूहानिका ने झलख दिखला जा सीजन 9 में वाइल्ड कार्ड के जरिए पार्टिसिपेट भी किया है. 
 
 
रूही के इश शानदार परफारमेंस को देखकर सामने बैठे जज जैकलीन करण जौहर और गणेष हेगड़े भी हैरान रह रह गए. इतना ही नहीं साल 2014 के आखिर में रूहानिका धवन ने बॉलीवुड फिल्म जय हो में कैमियों का किरदार भी निभाया है. इसके अलावा रूहानिका ने साल 2016 में सनी देओल की फिल्म घायल वन्स अगेन में भी रोल निभाया है.
 
 
सेट पर हर किसी की चहेती रूहानिका की दोस्ती मिहिका वर्मा से है. खाने पीने की शौकीन रूहानिका को पाव भाजी बेहद पसंद है और खेल से ज्यादा तैराकी में रूहानिका को मजा आता है. एक्टर में सलमान खान और एक्ट्रेस में कैटरिना कैफ रूहानिका के सबसे पसंदिदा कलाकार है. 9 साल की इस मासूम के लिए अभी से वक्त बेहद किमती हो चुका है. इसी थोड़े वक्त में उसे एक्टिंग करनी है पढना है और अपना बचपन भी बचाए रखना है.
 
 
कमाल का एक्प्रेसन, कमाल की मासूमियत और कमाल की अदाकारी. जब जब स्क्रीन पर आती है रूहानिका करोडो दर्शकों को अपना बना जाती है. ये मासूम यूं ही खुले आसमान में उड़ान भरती रहे. अपने और अपनों के सपनों को यू हीं साकार करती रहे. यही हमारी कामना है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App