नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली में दर्द की सबसे बड़ी दास्तान, घर में पांच दिनों से भूखी प्यासी थी दो बेटियां दिल्ली में हाल ही में एक ऐसी घटना सामने आई है जो मां की ममता शर्मशार करती है. एक मां अपनी दो बेटियों को छोड़ बेटे को साथ लेकर चलती बनी. वहीं अपनी मासूम बच्चियों के लिए शराबी बाप का दिल भी नहीं पिघला और पिता भी 15 अगस्त से गायब है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
हफ्ते भर तक दो बच्चियां एक बंद अंधेरे कमरे में भूखी-प्यासी पड़ी तड़पती रहीं. उनकी हालत मुर्दा जैसी हो गई थी. सिर में गहरे घाव हो गए. उनमें कीड़े रेंगने लगे. एक टूटी चारपाई पर एक-दूसरे का हाथ थामे दोनों मासूम बच्चियां करीब-करीब दम तोड़ने ही वाली थीं.
 
पुलिस इस हालात में बच्चों को छोड़ने वाले बेरहम माता पिता के खिलाफ मुकद्दमा दर्ज कर उनकी तलाश में जुट गई है. बता दें कि ये दोनों बच्चियां दिल्ली के रोहिणी इलाके के अम्बेडकर अस्पताल में भर्ती है. महज 8 साल की अलका और 3 साल की ज्योति का कसूर सिर्फ इतना है कि भगवान ने उनको बेटियों के रूप में दुनिया में भेजा है. इंडिया न्यूज शो ‘बेटियां’ में देखिए ऐसे ही दो बेटियों की दास्ता.