नई दिल्ली. बीफ को लेकर देश में अच्छा खासा बवाल मच चुका है. चाहे-अनचाहे, ये चुनावी मुद्दा भी बन चुका है और इसे लेकर कई बड़े नेताओं की जुबान भी फिसल चुकी है. कुछ दिनों पहले तक ये मुद्दा ठंडा रहा है लेकिन अब ये फिर अचानक उछल गया है. दोबारा इसे जस्टिस रजिंदर सच्चर ने यह कहते हुए उछाला है कि देश में बीफ के कारोबार में 95 फीसदी भागीदारी हिंदुओँ की है.
 
बीफ का मुद्दा इतना संवेदनशील है कि जस्टिस सच्चर के बयान पर किसी भी नेता ने अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है. लेकिन हम इसी मुद्दे पर बहस करेंगे, और आपको बताएंगे कि बीफ को लेकर नियम कायदे क्या कहते हैं और भारत में बीफ के कारोबार का असल मतलब क्या है? साथ ही ये भी समझने की कोशिश करेंगे कि जस्टिस सच्चर ये बयान देकर क्या साबित करना चाहते हैं.
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरा शो:
 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App