नई दिल्ली. दिल्ली की केजरीवाल सरकार पर प्याज घोटाले का संगीन आरोप लगा है. जब दिल्ली में प्याज के दाम 70 रूपए किलो तक पहुंच गए थे तब राज्य सरकार ने सस्ते प्याज के स्टॉल लगाए थे और इसे 40 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बेचा था. बाद में 30 रुपए की दर से इसकी बिक्री की. सरकार का दावा था कि उसने जनता को भारी सब्सिडी दी है लेकिन अब इस पर सवाल खड़े हो गए हैं.  दिल्ली में प्याज के दाम भले ही नीचे आने को तैयार नहीं लेकिन इस पर सियासी घमासान और तेज हो गया है. केजरीवाल सरकार ने नासिक की संस्था SFAC के जरिए 25 सौ मैट्रिक टन प्याज की खरीद की थी. इसे दिल्ली के आम लोगों को 30 रुपए प्रति किलो की दर से बेचा गया.
 
देखिए बीच बहस में-