नई दिल्ली. केजरीवाल सरकार के मंत्री संदीप कुमार का सेक्स-कांड उजागर होने के बाद आम आदमी पार्टी को सांप सूंघ गया है. बुधवार रात केजरीवाल ने ट्वीट के जरिए संदीप कुमार को कैबनेट से बर्खास्त करने का ऐलान तो कर दिया लेकिन अपनी स्वच्छ और ईमानदार छवि का ढिढोरा पीटने वाली आम आदमी पार्टी ये नहीं बता पा रहे हैं कि ऐसा शख्स उनकी पार्टी में दाखिल कैसे हुआ, टिकट कैसे दी गई और मंत्री कैसे बना दिया गया. खुद संदीप कुमार अपनी सफाई में सियासी साजिश और दलित होने जैसी लंगड़ी दलीलें दे रहे हैं लेकिन आम आदमी पार्टी मीडिया कैमरों का सामना करने से भी भाग रही है.
 
इनख़बर से जुड़ें | एंड्रॉएड ऐप्प | फेसबुक | ट्विटर
 
आज केजरीवाल से मीडिया ने संदीप कुमार को लेकर सवाल करने की कई बार कोशिश की लेकिन वो कैमरे के सामने आने को तैयार ही नहीं हुए. इतना ही नहीं बुधवार रात को डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के बाद आम आदमी पार्टी का हर शख्स मीडिया से बचता रहा. सफाई के नाम पर बुधवार को केजरीवाल ने ट्विटर पर संदेश लिखा और आज एक रिकॉर्डेड वीडियो संदेश जारी कर पल्ला झाड़ लिया.
 
संदीप कुमार केजरीवाल सरकार के तीसरे मंत्री हैं, जिन्हें बर्खास्त किया गया है. इससे पहले कानून मंत्रालय संभाल रहे जितेंद्र सिंह तोमर को फर्जी डिग्हरी के मामले में हटाया गया. इसके बाद नगरिक आपूर्ति मंत्री आसिम अहमद खान को घूसखोरी के मामले में हटाया गया और अब संदीप कुमार. साफ सुथरी राजनीति का वादा और दावा करने वाले केजरीवाल ये नहीं बता पा रहे हैं कि जब एक के बाद एक उनके मंत्रियों की पोल खुलती जा रही है, तो ऐसे लोग उनके साथ आए ही कैसे ?