नई दिल्ली. जेएनयू में 9 फरवरी को हुई देशविरोधी कल्चरल ईवनिंग के सूत्रधार अब खुद को पाक-साफ बता रहे हैं. उमर खालिद और उसके बाकी साथी करीब 10 दिनों तक गायब रहने के बाद कल रात जेएनयू कैंपस में वापस लौट आए.

यहां देर रात विजेताओँ की तरह उमर खालिद ने छात्रों की भीड़ को संबोधित किया. उसके सम्मान में बार-बार तालियां बजीं. इस सभा के जरिए उमर खालिद ने मार्क्सवाद से लेकर दर्शन शास्त्र तक के सिद्धांत बघारे लेकिन 9 फरवरी की सुबह और रात उसने और उसके बाहरी साथियों ने जो नारे लगाए थे उसके बारे में उमर खालिद ने चुप्पी साध ली.

उल्टे ये शिगूफा अलग से छोड़ दिया कि उन्हें मुसलमान होने की वजह से निशाना बनाया गया. सवाल उठता है कि उमर खालिद का सच आखिर है क्या ?

वीडियो में देखें पूरा शो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App