नई दिल्ली. देशभर के कई राज्यों में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू हो गया है. जिसके बाद वाहन चालकों को यातायात नियमों का उल्लंघन करने और गाड़ी के डॉक्यूमेंट्स नहीं होने पर भारी जुर्माना देना पड़ रहा है. यदि आप ट्रैफिक चालान से बचना चाहते हैं तो भारत सरकार की ओर से डिजीलॉकर ऐप की व्यवस्था दी गई है. जिसमें आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस, गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट, इंश्योरेंस सर्टिफिकेट, प्रदूषण जांच के कागज आदि सभी ऑनलाइन मोबाइल एप्लीकेशन में अपलोड कर सकते हैं. यदि आपको कभी ट्रैफिक पुलिस रोकती है तो आप अपने मोबाइल फोन में इन डॉक्यूमेंट्स को दिखा सकते हैं. ये मान्य हैं. साथ ही इससे आपको गाड़ी के ऑरिजिनल कागजात को अपने साथ लेकर चलने के झंझट से मुक्ति मिल जाएगी.

डिजी लॉकर केंद्र सरकार द्वारा चलाई जाने वाली एप्लीकेशन है. इसमें यदि आप अपना अकाउंट बनाकर उसे आधार कार्ड से लिंक करते हैं तो आपके अन्य डॉक्यूमेंट्स भी सीधे इस एप्लीकेशन में दिखाई देते हैं. आपको अलग से अपने कागजात अपलोड करने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी. आपको बताते हैं कि डिजी लॉकर ऐप का उपयोग कैसे करते हैं और उसमें डॉक्यूमेंट्स कैसे अपलोड करते हैं.

  • इन आसान स्टेप्स को फॉलो कर डिजी लॉकर में अकाउंट बनाएं और डॉक्यूमेंट्स अपलोड करें-
  • डिजी लॉकर ऐप गूगल प्ले स्टोर और एपल ऐप स्टोर पर उपलब्ध है.
  •  अपने मोबाइल फोन में DigiLocker ऐप को डाउनलोड कर इंस्टॉल करें.
  •  ऐप को ओपन करें और मोबाइल नंबर से साइन अप करें.
  •  इसके बाद आपके फोन पर मैसेज के जरिए ओटीपी (वन टाइम पासवर्ड) आएगा, उसे भरें और सबमिट कर दें.
  •  इसके बाद यूजरनेम और पासवर्ड जेनरेट करें और सबमिट कर दें.
  •  इस तरह से आपका डिजी लॉकर पर अकाउंट तैयार हो जाएगा.
  •  अब ऐप के होम पेज पर आधार कार्ड से लिंक करने का विकल्प दिखाई देगा, उस पर क्लिक करें.
  •  अपना आधार नंबर भरें और ओटीपी के जरिए सबमिट करें.
  •  आधार कार्ड से लिंक होने के बाद आप अपना ड्राइविंग लाइसेंस और गाड़ी का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट सीधे परिवहन विभाग से DigiLocker ऐप में मंगवा सकते हैं.
  •  वहीं यदि आपने आधार कार्ड से लिंक नहीं किया है तो भी आप अपलोड डॉक्यूमेंट्स टैब में जाकर अपने ड्राइविंग लाइसेंस और वाहन के रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट को अपलोड कर सकते हैं.

एक बार डिजी लॉकर ऐप में अपने डॉक्यूमेंट्स अपलोड करने के बाद आप बेफिक्र होकर ड्राइविंग कर सकते हैं. आपको अपने ऑरिजिनल डॉक्यूमेंट्स साथ लेकर चलने की कोई जरूरत नहीं है. यदि कोई ट्रैफिक पुलिसकर्मी आपको रोकते भी हैं तो आप अपने मोबाइल फोन में डिजी लॉकर ऐप में रखे डॉक्यूमेंट्स दिखा सकते हैं. यह ऑनलाइन दस्तावेज मान्य होता है और आप भारी ट्रैफिक चालान से बच सकते हैं. 

Highest Traffic Fine In India: नए मोटर व्हीकल एक्ट के बाद दिल्ली में कटा देश का सबसे बड़ा चालान, जुर्माने की रकम 1 लाख 41 हजार 700 रुपए

West Bengal Will Not Follow New Traffic Rules: महाराष्ट्र के बाद पश्चिम बंगाल की ममता बनर्जी सरकार ने भी चालान के नए नियम को लागू करने से किया इनकार, दिल्ली सरकार में भी मंथन जारी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App