Thursday, February 2, 2023
spot_img

गाड़ी खरीदारों के लिए 20-10-4 फॉर्मूला है बेहद कारगर, जानिए इस तरीके को

Car Loan Tips: हर किसी के लिए कार खरीदना आसान नहीं है. इसके लिए आपको काफी पैसा खर्च करना पड़ता है. ऐसे में हर शख्स के पास कार खरीदने के लिए एकमुश्त रकम नहीं होती है इसलिए बड़े तबके में लोग कार की खरीद के लिए लोन लेते हैं. अब जो कर्ज लिया है, उसे चुकाना भी है.

 

इसके लिए लोन की ईएमआई बनाई जाती है यानी हर महीने किस्त के तौर पर लोन का कुछ रकम चुकाया जाता है। अब अगर कोई व्यक्ति कार लोन लेते वक्त सावधानी नहीं बरतता है तो कर्ज चुकाते समय वह बड़ी परेशानी से घिर सकता है.

इसलिए आज हम एक ऐसे फॉर्मूले के बारे में बात करेंगे जो कार लोन लेने वालों के लिए यह फॉर्मूला बहुत काम का है। इस फॉर्मूले को मद्दे नजर रखते हुए गाड़ी के लिए लोन लेने वाले आसानी से महीने की ईएमआई की रकम अदा कर सकते हैं.

 

क्या कहता है 20-10-4 फॉर्मूला?

20-10-4 फॉर्मूला के हिसाब से कि किसी भी गाड़ी की खरीद के लिए उस गाड़ी की सड़क की कीमत का 20% डाउनपेमेंट करें और बकाया रकम के लिए लोन लें। लोन लेते समय इस बात का खास ख्याल रखें कि आपकी ईएमआई आपकी महीने की आय के 10% से अधिक नहीं होनी चाहिए, और लोन की अवधि चार साल तक ही होनी चाहिए। यानी 20-10-4 फॉर्मूले में 20 का मतलब – 20% डाउन पेमेंट (ऑन-रोड प्राइस का), 10 का मतलब – मासिक आय का 10% ईएमआई, और 4 का मतलब – चार साल की लोन अवधि।

 

नहीं पड़ेगा कर्ज़ का बोझ

इस फॉर्मूले के मुताबिक अगर आप कार खरीदते हैं तो कर्ज का ज्यादा बोझ नहीं पड़ेगा। आप आसानी से कार लोन चुका पाएंगे। हालाँकि, यदि आप डाउन पेमेंट को 20% बढ़ा देते हैं, तो आपके लिए इसे चुकाने में सहूलियत होगी। इसलिए जितना हो सके ,डाउन पेमेंट को 20% (ऑन-रोडप्राइस) से ज्यादा करने की कोशिश करें, ताकि लोन की रकम कम हो सके और ईएमआई भी कम रखी जा सके।

 

 

यह भी पढ़ें

 

 

Latest news