नई दिल्लीः एशिया कप के लिए लगभग सभी देश यूएई पहुंच चुके हैं और तैयारियां शुरू कर दी हैं. भारतीय टीम को इस बार एशिया कप का प्रबल दावेदार माना जा रहा है. भारतीय टीम मौजूदा समय में सीमित ओवरों के क्रिकेट में जबरदस्त फॉर्म में है. वह आईसीसी रैंकिंग में नंबर दो पर है और एशियाई टीमों में सबसे अव्वल है. भारत के अलावा अन्य एशियाई टीमें भारत से बहुत नीचे हैं. पाकिस्तान की टीम 5वें तो श्रीलंका की टीम 8वें स्थान पर है. जबकि बांग्लादेश की टीम सातवें नंबर पर है. टूर्नामेंट में भाग ले रही अफगानिस्तान आईसीसी ओडीआई रैंकिंग में 10वें स्थान पर है जबकि भाग ले रही एक अन्य टीम हॉन्ग-कॉन्ग को तो अभी आईसीसी रैंकिंग में जगह नहीं मिल पाई है.

करन्ट फॉर्म और रैंकिंग के अलावा इतिहास भी भारतीय टीम के पक्ष में है. भारतीय टीम का रिकॉर्ड एशिया कप में सबसे बेहतर रहा है. यह रिकॉर्ड ना सिर्फ कप जीतने के मामले में बल्कि मैच जीतने के मामले में भी है. भारत ने एशिया कप में कुल 48 मैच खेले हैं, जिसमें उसे 31 में जीत और 16 में हार मिली है जबकि एक का कोई परिणाम नहीं निकला है. वहीं 14 बार एशिया कप का आयोजन हुआ है, जिसमें भारत सर्वाधिक 6 बार विजेता बना है. हालांकि फाइनल में खराब रिकॉर्ड के कारण श्रीलंका भी भारत से कम पीछे नहीं है. श्रीलंका एशिया कप को 5 बार जीत चुका है.

लेकिन फिलहाल श्रीलंका की टीम अपने क्रिकेटिंग इतिहास के सबसे बुरे दौर से गुजर रही है. यही कारण है कि वह वन डे रैंकिंग में वह बांग्लादेश से भी पीछे है. यही कारण है कि 19 सितंबर के अलावा भारतीय टीम फाइनल में भी भिड़ सकती है. हालांकि बांग्लादेश से भी उलेटफेर की आशा की जा सकती है और हो सकता है कि वह ही फाइनल में जगह बना ले.

Asia Cup 2018: 19 सितंबर को होगा एशिया कप में भारत-पाकिस्तान के बीच महामुकाबला

Asia Cup 2018 India full schedule: जानिए, कब और कहां किससे भिड़ेगी टीम इंडिया