नई दिल्ली: हाल ही में एमसीडी चुनाव में मिली करारी हार के बाद से आम आदमी पार्टी में घमासान मचा हुआ है. पार्टी को लगातार मिल रही हार को लेकर अब पार्टी आत्म चिंतन करने के मुड में दिख रही है. जिसके संकेत पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने दे दिया है. केजरीवाल ने कहा है कि एमसीडी चुनाव में गलतियां हुई हैं, जिस पर काम करने की जरूरत है और खुद के भीतर झांकने की जरूररत है. 

मगर पंजाब चुनाव और एमसीडी चुनावों से कुमार विश्वास के अलग रहने से कई सारे राजनीतिक संकेत मिल रहे हैं. पार्टी के भीतर से भी ऐसे संकेत मिल रहे हैं कि बहुत से कार्यकर्ता चाहते हैं कि पार्टी के सर्वेसर्वा के रूप में कुमार विश्वास को स्थापित किया जाए. हालांकि, इस सवाल पर खुलकर कुछ भी बोलने से कुमार विश्वास कतरा रहे हैं. कुमार विश्वास भी मानते हैं कि पार्टी को मिल रही लगातार हार पर आत्मचिंतन करने की जरूरत हैं. 
 
हालांकि, जिन बुनियादी सवालों को लेकर ये पार्टी बनी थी अब वो उस पर कहीं से भी खरी नहीं उतर रही है. भ्रष्टाचार. अकांउटबिलिटी और ट्रांसपैरेंसी के मुद्दे पर चुनाव लड़ने वाली पार्टी अब अपने सिंद्धांतों से दूर जाती दिख रही है. मगर कुमार विश्वास इन बातों से साफ इनकार कर रहे हैं. उनका मानना है कि पार्टी में अभी भी वही सिद्धांत कायम है. 
 
केजरीवाल और कुमार विश्वास के बीच अनबन की खबरों पर विराम लगाते हुए कुमार विश्वास का कहना है कि पार्टी में सब कुछ सही. मगर जिस तरह से पंजाब चुनाव, गोवा और एमसीडी चुनावों से कुमार विश्वास नदारद दिखे, उससे साफ पता चलता है कि या तो अरविंद केजरीवाल को उन पर विश्वास नहीं या फिर कुमार ही जिम्मेदारी नहीं लेना चाहते हैं. पार्टी के खिलाफ कुछ भी बोलना कुमार विश्वास न्यूनतम नैतिक अनुशासन का अपमान मानते हैं. 
 
हालांकि, वो मानते हैं कि अब पार्टी में बदलाव की जरूरत है. यही वजह है कि गोपाल राय को दिल्ली का संयोजक बनाया गया है. कुमार विश्वास ने एमसीडी चुनाव में बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि बीजेपी ने एमसीडी चुनाव में मुद्दे को गायब कर दिया. केजरीवाल और मनीष सिसोदिया के लगातार ईवीएम वाले बयान से कुमार विश्वास ने साफ तौर पर इनकार तो नहीं किया, मगर उसे हारने की बड़ी वजह भी नहीं माना. 
 
कुमार विश्वास ने कहा कि केजरीवाल राजनीति में कच्चे और नेचुरल हैं, जिसके कारण हार का मुंह देखना पड़ रहा है. हम सभी मिल कर पार्टी को ऊपर उठाने की कोशिश करेंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी के कार्यकर्ताओं का मनोबल अभी भी ऊपर है.  
 
अन्ना के ऊपर टिपण्णी के मामले में कुमार विश्वास ने कहा कि अन्ना अभिभावक समान हैं, वो कुछ भी बोलते हैं तो वो हमारे और पार्टी के लिए अमृत समान है. कुमार ने कहा कि अन्ना के खिलाफ टिपण्णी करने की मेरी औकात नहीं.
(वीडियो में देखें पूरा शो)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App