नई  दिल्ली. सूचना का अधिकार (आरटीआई) कानून के तहत दायर एक अर्जी को देखकर केंद्रीय कानून मंत्रालय हैरान रह गया. दरअसल, अर्जी में पूछा गया था कि संवैधानिक पदों पर नियुक्त किए जाने वाले लोग और सांसद-विधायक जिस ‘ईश्वर’ के नाम पर पद की शपथ लेते हैं वह कौन है. कानून मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि वे सिर्फ वही सूचनाएं मुहैया करा सकते हैं जो रिकॉर्ड का हिस्सा हों.

इस मसले पर इंडिया न्यूज़ के स्पेशल शो ‘अर्ध सत्य’ में गंभीरता से विचार किया गया. शो में इंडिया न्यूज के मैनेजिंग एडिटर राणा यशवंत ने इस विषय की पड़ताल की. पूरा कार्यक्रम देखने के लिए वीडियो पर क्लिक करें.  

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App