नई दिल्ली. बाजारों में मिलावट का दौर कभी खत्म नहीं होता. जब भी पर्व-त्योहार नजदीक होता है तब इसकी मात्रा मिठाईयों में सबसे ज्यादा बढ़ जाती है. इसके लिए मिठाईयों में मिलाए जाने वाले दूध, मावा और अन्य चीजों के साथ छेड़छाड़ किया जाता है.
 
इससे सेहत खराब होती है. अगर आप मिलावट से जुड़े रिपोर्ट पढ़े तो संथेटिक दूध शैंपू, रिफाइंड ऑयल और वनस्पति घी से तैयार होता है. इस समय खासतौर पर बाजार से खरीदे जाने वाली मावे की मिठाईयों को जांचना चाहिए कि आखिर वह शुद्ध है या मिलावटी? इसके लिए आप कुछ तरीके अपना सकते हैं जिससे पता चलेगा कि मावे की मिठाईयां असली है या नकली?
 
वीडियो पर क्लिक करके देखिए पूरी रिपोर्ट: 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App