नई दिल्ली. बीएसएफ जवानों पर जम्मू-कश्मीर में हुए आतंकी हमले में जिंदा पकड़े गए आतंकी कासिम खान ने कैमरे के सामने क़ुबूल किया है कि वह लश्कर का फिदायीन है.

कासिम ने यह भी क़ुबूल किया कि उसे भारत में दहशत फैलाने के लिए बाकायदा तनख्वाह भी मिलती है. जब उससे पूछा गया कि वह ये सब क्यों करता है तो उसने जवाब दिया कि उसे इसमें मज़ा आता है. क्या एक आतंकी के ऐसे बयान से हमें सोचना नहीं चाहिए कि आखिर क्यों आतंकवाद का चेहरा इतना क्रूर हो चुका है?

यही नहीं अगर सीरिया में आतंकी संगठन आईएसआईएस की क्रूरता को देखे तो वह दर्दनाक है. लेकिन अब युवा ज्यादा से ज्यादा इन संगठन से जुड़ रहे हैं. ऐसे तमाम रिपोर्ट्स सामने आ रहे हैं जो इन संगठनों के प्रचार का सबूत है. ऐसे में आतंक के इन नए संगठनों की जड़ तक जाना जरुरी हो गया है कि आखिर क्यों वह आम लोगों के गले काटना, बम विस्फोट करना जैसी चीजों को सपोर्ट कर रहे हैं.

क्लिक कर देखिए, पूरा शो:

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App