उत्तर प्रदेश. आगरा ( Agra ) में एक महिला ने अधिकारीयों के खिलाफ अनोखे अंदाज में प्रदर्शन किया है. महिला ने खेत में समाधी लेकर और अन्न-जल त्यागकर 5 घंटे राजस्व विभाग के अधिकारीयों के खिलाफ प्रदर्शन किया है.

आगरा के सिकंदरा क्षेत्र में रहने वाली एक महिला ने राजस्व विभाग की टीम द्वारा उसके खेत पर जबरन दूसरे पक्ष का कब्जा करवाये जाने के विरोध में जमीन में समाधि लेकर आमरण अनशन शुरू कर दिया। घटना पर तुरंत पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारियों ने महिला को मापदंड करके फिर संतुष्ट कराया और करीब 5 घण्टे की कड़ी मसकत के बाद महिला को समाधि से निकाला गया.

खबरों के मुताबिक थाना सिकंदरा के बाई पुर गांव की रहने वाली प्रेमलता ने गाव के रिटायर्ड सुरेंद्र सिंह पर ज़मीन कब्जाने का आरोप लगया था.महिला ने बताया कि गुरुवार को कानूनगो और लेखपाल आये थे और गलत पैमाइश कर हमारा खेत दूसरे पक्ष के कब्जे में दिलवा दिया। इसी से तंग आकर महिला ने खेत में गड्ढा खोदकर समधि ले ली.

प्रसासन ने लिया एक्शन

महिला की विडिओ और फोटो वायरल होने के बाद प्रशासन ने संज्ञान लेते हुए एडीएम सिटी प्रभाकांत अवस्थी के आदेश पर राजस्व विभाग की टीम और थाना सिकंदरा पुलिस मौके पर पहुंची और महिला को समझाया। घटना पर तुरंत पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारियों ने महिला को मापदंड करके फिर संतुष्ट कराया और करीब 5 घण्टे की कड़ी मसकत के बाद महिला को समाधि से निकाला गया. अधिकारियो ने बताया की खेत की पैमाइश की जाएगी और विचारधीन तरीके से मामले की जांच की जाएगी।

पूर्व में बेटी भी कर चुकी है हंगामा

बता दे इससे पहले महिला की नाबालिग बेटी ने एक व्यक्ति परबलात्कार के प्रयास का आरोप लगाया था. इसके साथ ही मकान की दीवार तोड़ी जाने पर उसने सोशल मीडिया पर राष्ट्रीय स्तर के ताइक्वांडो के मैडल बेचने की गुहार लगाई थी। जिसपर पुलिस ने सज्ञान लेते हुए आरोपियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें :

Lakhimpur kheri: किसान ने पेट्रोल छिड़ककर धान में लगाई आग, 14 दिनों से मंडी में नहीं बिक रही थी फसल

Karva Chauth Fast During Pregnancy गर्भावस्था के दौरान ऐसे रखें करवा चौथ का व्रत

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर