साम्प्रदायिकता का रंग देश में कुछ ज्यादा ही गाढ़ा होता जा रहा है. खबर उत्तर प्रदेश के कानपुर की है जहां भीड़ एक रिक्शेवाले पर हावी हो गई और उनसे जबरन जय श्री राम के नारे लगवाए।

मामला दो पड़ोसियों के (कुरैशा और रानी) के बीच बाइक को लेकर एक छोटे सी बात से शुरू हुआ था, लेकिन छोटा सी बात बढ़ कर विवाद के रूप में तब्दील हो गई और साम्प्रदायिकता की भेंट चढ़ गई. कुरैशा और रानी ने झगड़े के बाद एक दूसरे पर इलज़ाम लगाने शुरू कर दिए, कुरैशा ने रानी पर मारपीट की प्राथमिकी दर्ज कराई तो रानी ने कुरैशा के लड़कों पर छेड़खानी की. इसी बात पर कुरैशा के घर कुछ गुंडे उनके बेटों को मारने गए थे, लेकिन कुरैशा के बेटे वहां नहीं मिले जिसके बाद हमलावर कुरैशा के देवर जो की पेशे से रिक्शेवाले हैं को घेर लिया और मारपीट शुरू कर दी. पिता को मार खाता देख बेटी ने रो-रो कर पिता को छोड़ने की गुहार लगाती रही लेकिन आक्रोशित भीड़ को बच्ची के आंसुओं पर कोई रहम नहीं आया और उन्होंने उसके पिता से जबरन जय श्री राम कहलवाया जुलूस निकाला और दुर्व्यवहार किया. हालांकि पुलिस ने दोनों पक्षों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है. इस मामले पर एसीपी कानपुर साउथ, रवीना त्‍यागी का कहना है कि, ‘जो पीडि़त है उनकी तहरीर के आधार पर कुछ नामजद और कुछ अज्ञात व्‍यक्तियों के खिलाफ मुकदमा कायम कर लिया गया है. मामले में कार्रवाई की जा रही है.’

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर