लंदनः ब्रिटेन की संसद में भी पॉर्न देखने की कोशिश होती है. जी हां, यह हम नहीं कह रहे बल्कि ब्रिटेन की प्रेस एसोसिएशन (PA) ने इस संबंध में एक रिपोर्ट जारी की है. रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन की संसद भवन में लगे कंप्यूटरों से साल 2017 के अंत में रोजाना करीब 160 बार पॉर्न वेबसाइट्स खोलने की कोशिश की गई. PA फ्रीडम ऑफ इन्फॉरमेशन (FOI) द्वारा दिए गए आंकड़ों के मुताबिक, पिछले साल जून में हुए आम चुनाव के बाद संसदीय नेटवर्क से जुड़े उपकरणों से 24,473 बार पॉर्न वेबसाइट्स खोलने की कोशिश की गई.

बताते चलें कि प्रधानमंत्री थेरेसा मे वेस्टमिंस्टर में यौन कदाचार के आरोपों से जूझ रही हैं. थेरेसा मे को पिछले महीने अपने पुराने दोस्त और मंत्री डैमियन ग्रीन को बर्खास्त करना पड़ा क्योंकि 2008 में वेस्टमिंस्टर दफ्तर के उनके कंप्यूटर में अश्लील सामग्री मिलने के दावों को लेकर उन्होंने पुलिस को गुमराह किया था. सांसद, उच्च सदन के सदस्य और उनका स्टाफ संसदीय परिसर में इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं. अधिकारियों ने दावा किया कि पॉर्न साइट्स खोलने की ज्यदातर कोशिशें जान-बूझकर नहीं की गई थी और हाल के वर्षों में इसमें काफी गिरावट आई है.

संसदीय प्रवक्ता ने PA को बताया कि संसद के कंप्यूटर नेटवर्क पर सभी अश्लील वेबसाइट्स को ब्लॉक कर दिया गया है. दिए गए आंकड़ों में ज्यादातर कोशिशें जान-बूझकर नहीं की गई. प्रवक्ता ने बताया कि आंकड़ों में उन पर्सनल डिवाइसेज़ का डेटा भी शामिल है, जिन्होंने संसद के गेस्ट हाउस में लगे वाई-फाई पर लॉग-इन किया था.

 

अब पोर्न साइट्स से आपको बचाएंगे हर हर महादेव