बर्लिन. जर्मनी में एक मेल नर्स को लोगों को जहर का इंजेक्शन देने में बड़ा मजा आता था. इसीलिए उस नर्स ने 100 मरीजों को जहरीला इंजेक्शन देकर मौत की नींद सुला दिया. फिलहाल ये आरोपी 2015 से दो मर्डर मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है, हाल में ही आरोपी की सुनवाई पूरी हुई तब जाकर पता चला इस पुरुष नर्स ने मरीजों को लीथल इंजेक्शन दिए हैं. आरोपी नील्स ने माना कि वो बोरियत दूर करने के लिए मरीजों को जहरीले इंजेक्शन देता था.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जर्मनी के 41 वर्षीय नील्स होएगल अभी 2015 से दो हत्या के मामले में उम्रकैद की सजा काट रहा है. इस मामले की जांच कर रही पुलिस ने इंवेस्टिगेशन के बाद पाया कि नील्स ने 100 मरीजों को जहर के लीथल इंजेक्शन दिये थे, जिनसे उन मरीजों की मौत हो गयी है. जांच अधिकारियों का कहना है कि मौत का ये आंकड़ा अभी और बढ़ सकता है. नील्स ने ये मर्डर 1999-2005 में अपनी जॉब के दौरान किये. गुरुवार को पुलिस और प्रॉसीक्यूटर ने पुष्टि कि कि नील्स के द्वारा 100 से ज्यादा मर्डर किये गए हैं.

मीडिया के अनुसार पुलिस के द्वारा पूछताछ में आरोपी नील्स ने कबूल किया कि उसने मरीजों को जहरीले इंजेक्शन दिए थे. आरोपी ड्रग्स की ज्यादा मात्रा के इंजेक्शन रोगियों को लगाता था जिससे मरीजों की दिल का दौरा पड़ने से मौत हुई. आरोपी ने बताया कि वो बोरियत से निकलने के लिए ऐसा करता था. पहले वो ड्रग्स से भरे इंजेक्शन मरीजों को लगाता था और तबीयत बिगड़ने पर उनका इलाज करता था, कभी मरीज की तबीयत ठीक होने पर मुझे मजा आता था, लेकिन जब मरीज की मौत हो जाती तो मैं बहुत निराश हो जाता था.

पढ़ें-कुलभूषण जाधव मामले पर पाकिस्तान का यू-टर्न, जेल में पत्नी से मिलने की दी इजाजत