लंदन. स्विट्जरलैंड के टिसिनो प्रांत में में मुस्लिम महिलाओं को सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनने पर बैन लगा दिया है. साथ ही महिला को बुर्का पहने पकड़ी गई तो उस पर 6 लाख रुपए का जुर्माना भी लगया जाएगा. यह फैसला आतंकी हमलों को ध्यान में रखते हुए लिया गया है. ऐसा माना जा रहा है कि आतंकी बुर्का पहनकर किसी घटना को आसानी से अंजाम दे सकते हैं. स्विट्जरलैंड की संसद ने इस कानून की मंजूरी देने के बाद इसको लागू किया गया. 
 
इसके कानून के तहत मुस्लिम महिलाओं के पूरी तरह चेहरा ढकने पर रोक लगाई गई है. इस इलाके में अब महिलाओं का पब्लिक प्लेस के साथ-साथ दुकान, रेस्त्रांऔर कार के अंदर बुर्का या नकाब पहनना अपराध होगा. नए कानून में विदेशी सैलानियों को भी नहीं बख्शा गया है. यह नियम उन पर भी सख्ती से लागू होते हैं. हालांकि, मुंह ढकने के अन्य तरीकों जैसे मास्क, हेलमेट आदि पर किसी प्रकार का रोक नहीं है.
 
सितंबर 2013 में हुए जनमत संग्रह में तीन लोगों में से दो लोगों ने सार्वजनिक जगहों पर बुर्का पहनने पर बैन लगाने को कहा था. इसके साथ करीब दो तिहाई बहुमत ने बुर्का पर बैन लगाने का समर्थन किया था जिसके बाद संसद ने इसे पास कर दिया. हालांकि, यह कानून पूरे स्विट्जरलैंड में नहीं बल्कि केवल टिसिया में ही लागू होगा.
 
बता दें कि केवल स्विट्जरलैंड ऐसा अकेला देश नहीं है जहां पर बुर्का पहनने पर बैन है, इसके अलावा दुनिया के अन्य देश भी मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने पर बैन लगा चुके हैं जिनमें फ्रांस का नाम भी शामिल है. बेल्जियम और नीदरलैंड में भी ऐसे कानून पारित हो चुके हैं.