पेरिस. पेरिस आतंकी हमलों के मास्टरमाइंड के खिलाफ कार्रवाई के दौरान मारी गई महिला फिदायीन के बारे में नए खुलासे हुए हैं और कुछ फोटोज सामने आए हैं. 26 साल की इस महिला आतंकी को मजहब में यकीन नहीं था. उसे शराब पीने और पार्टियां करने का शौक था. वह अपने दोस्तों के बीच ‘काउगर्ल’ के नाम से पहचानी जाती थी. अब इसे यूरोप की पहली महिला फिदायीन बताया जा रहा है.
 
कौन थी यह महिला आतंकी?
पेरिस हमलों के मास्टरमाइंड को पकड़ने के लिए पुलिस ने बुधवार को सेंट डेनिस में एक अपार्टमेंट में एनकाउंटर शुरू किया. जब पुलिस अपार्टमेंट के अंदर घुसी और उसने इस आतंकी हसना अत बोलाचेन को अरेस्ट करने की कोशिश की तो उसने खुद को उड़ा लिया. बताया जाता है कि खुद को उड़ाने से पहले वह पुलिस पर चिल्लाई थी. हसना के साथ ही इस हमले का मास्टरमाइंड अब्देलहामिद अबाऔद भी मारा गया था.