काहिरा. मिस्र के सिनोई में कैश हुए रुसी प्लेन को लेकर इस्लामिक स्टेट ने कहा है कि इसे उन्होंने कथित तौर सॉफ्ट ड्रिंक केन में रखे बम से उड़ाया है. यह विमान में चुपके से पहुंचाया गया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक ऑनलाइन पत्रिका दाबिक में आईएस ने बताया कि संगठन ने शुरू में अमेरिका नीत गठबंधन के किसी देश के विमान को गिराने की योजना बनाई थी.
 
समूह ने उन विस्फोटकों की तस्वीरें प्रकाशित की जिसके बारे में उसने दावा किया कि वह परोक्ष तौर पर सोडा कैन में रखा गया था. इसके साथ ही उसने उन पासपोर्ट की भी तस्वीरें प्रकाशित की जो उन मृत यात्रियों के थे जो सिनाई प्रायद्वीप में दुर्घटनास्थल से मिले थे.
 
दूसरी तरफ रूस के सुरक्षा प्रमुख ने कहा है कि पिछले महीने मिस्र में एयरबस 321 के दुर्घटनाग्रस्त होने के पीछे एक आतंकवादी कार्रवाई थी. इस हादसे में 224 लोग मारे गए थे. बता दें कि पिछले महीने रुसी विमान की फ्लाइट नंबर 7K9268 मिस्र में क्रैश हुई जिसमें सात क्रू मेंबर और 17 बच्चों समेत 219 पैसेंजर सवार थे. घटना वाली दिन यह शर्म अल-शेख इंटरनेशनल एयरपोर्ट से उड़ान के 23 मिनट बाद राडार से गायब हो गया था. ये रूस के कोलेविया एयरलाइंस का प्लेन था. प्लेन में ज्यादातर रशियन टूरिस्ट सवार थे.