लंदन. ब्रिटेन की तीन दिन की यात्रा के दूसरे दिन पीएम मोदी ने वेम्बले स्टेडियम में करीब 60 हजार दर्शकों को संबोधित करते हुए कहा, “यह ऐतिहासिक पल है. मैं यहां घर जैसा महसूस करता हूं. हमने बिना कारण गरीबी को पालकर रखा है. हमें गरीबी को पुचकारने में मजा आने लगा है. भारत युवाओं का देश है. भारतीयों ने लंदन में आकर आजादी की लड़ाई को आगे पहुंचाया.  कैमरन भारतीय समुदाय के लोगों पर गर्व करते हैं.”
 
उन्होंने कहा, “विविधिता हमारी आन-बान-शान है. विविधिता हमारी शक्ति भी है. सिख समाज की विशेषता रही है कि वे मां भारती की भी रक्षा करते रहे और आजाद भारत के लोगों का पेट भरने के लिए पसीना बहाते रहे.”
 
मोदी ने ये धारणा तोड़ी की चायवाला दुनिया का सबसे बड़े लोकतंत्र नहीं चला सकता: कैमरन 
इससे पहले ओपनिंग स्पीच देते हुए ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरन ने पीएम मोदी को लेकर कहा कि कहा जाता था कि दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र को कोई चायवाला नहीं चला सकता लेकिन नरेंद्र मोदी ने इसे गलत साबित कर दिया. कैमरन ने कहा,  ‘मोदी ने कहा था कि अच्छे दिन आने वाले हैं, अच्छे दिन जरूर आएंगे. वह दिन दूर नहीं, जब ब्रिटेन में भारतीय मूल का पीएम होगा.’