वाशिंगटन. अमेरिका ने यमन में हौती विद्रोहियों के एक नेता और पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह के एक बेटे पर विद्रोहियों का साथ देने के आरोप में प्रतिबंध लगा दिया है. समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, अमेरिकी वित्त मंत्रालय ने शिया हौती विद्रोही नेता अब्दुल मलिक अल-हौती और यमन के पूर्व राष्ट्रपति अली अब्दुल्ला सालेह के बेटे अहमद अली सालेह पर प्रतिबंध लगाया है.

अब्दुल मलिक और अहमद अली अंतर्राष्ट्रीय समुदाय की ओर से बार-बार चेतावनी मिलने के बावजूद हिंसा और दूसरी गैरकानूनी गतिविधियों के जरिये यमन में राजनीतिक प्रक्रिया और शांतिपूर्ण सत्ता हस्तांतरण को बाधित कर रहे हैं: अमेरिकी वित्त मंत्रालय

अहमद अली यमन की रिपब्लिकन गार्ड के प्रमुख रह चुके हैं और हौती विद्रोहियों के प्रमुख समर्थक हैं. वित्त मंत्रालय ने अमेरिका के अधिकार क्षेत्र के तहत उनकी संपत्ति सील कर दी है और अमेरिकी नागरिकों को उनके साथ व्यवसाय से रोक दिया है. इससे पहले संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (यूएनएससी) की ओर से मंगलवार को उनकी संपत्ति सील कर दी गई एवं उन पर यात्रा प्रतिबंध लगाया गया था.