मॉस्को. रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने शुक्रवार को मिस्र जाने वाली देश की सभी उड़ानें रद्द करने का आदेश दिया. मिस्र के सिनाई प्रायद्वीप में पिछले शनिवार रूस के यात्री विमान को आंतकवादी हमले में मार गिराए जाने की प्रबल संभावनाओं के बीच यह कदम उठाया गया है.
 
राष्ट्रपति पुतिन के प्रेस प्रवक्ता दमित्री पेस्कोव ने जोर दिया है कि इस फैसले का यह मतलब नहीं है कि रूस यह मानता है कि हमारा यात्री विमान आतंकवादी हमले का शिकार हुआ है, जिसमें सभी 224 लोगों की मौत हो गई थी.
 
पेस्कोव ने कहा, “अभी तक किसी भी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा गया है, क्योंकि किसी भी संभावना के स्पष्ट संकेत या प्रमाण नहीं हैं. सिर्फ आधिकारिक जांच के बाद ही किसी निष्कर्ष पर पहुंचा जा सकता है.” पेस्कवो ने कहा कि यह फैसला रूस के यात्रियों की सुरक्षा को ध्यान में रखकर लिया गया है. 
 
रूस की समाचार एजेंसी ‘आरआईए नोवोस्ती’ ने अपनी एक रिपोर्ट में संघीय जांच सेवा के प्रमुख एलेग्जेंडर बॉर्तिनोव का हवाला देते हुए कहा, “जब तक इस दुर्घटना के वास्तविक कारणों का पता नहीं चलता. मुझे लगता है कि रूस की मिस्र जाने वाली सभी उड़ानों को रद्द करने का फैसला सही है.” उन्होंने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि शुक्रवार से ही मिस्र जाने वाली सभी उड़ानें रद्द हैं.