नई दिल्ली. दुनिया के अमीर राजाओंं की फॉर्ब्स लिस्ट में शामिल अफ्रीकी देश स्वाजीलैंड के राजा मस्वाती तृतीय दिल्ली में संपन्न भारत-अफ्रीका सम्मलेन में हिस्सा लेने 14 रानियों, 30 बच्चों और 100 नौकरों के साथ आए थे. इनके पिता सोभुजा द्वितीय को 70 रानियों से 210 बच्चे और उनसे 1000 से ज्यादा नाती-नतिनी और पोते-पोती थे.
 
दिल्ली के एक फाइव स्टार होटल में राजा मस्वाती तृतीय के लिए 200 कमरे बुक कराए गए थे. 47 वर्षीय राजा जिस कमरे में ठहरे थे, उसका किराया करीब डेढ़ लाख रुपए प्रतिदिन था. 
 
हर साल एक परेड से कुंवारी लड़कियों को चुन सकता है राजा
 
स्वाजीलैंड की परंपरा के हर साल होने वाले एक राजशाही नृत्य समारोह में हजारों कुंवारी लड़कियों की परेड होती है और राजा उनमें से किसी को भी अपनी पत्नी के तौर पर चुन सकता है.
 
शुरुआत में लड़कियों को बस राजा की प्रेमिका के तौर पर महल में रखा जाता है और बाद में राजा अपनी इच्छा से कभी भी शादी करता है. कई बार ऐसा होता है कि लड़की के गर्भवती होने के बाद शादी की रस्म निभाई जाती है.
 
स्वाजी राजघराने की ये शाही शादियां आम तौर पर जाड़े के मौसम में होती हैं और अंचंभित करने वाली परंपरा ये भी है कि शादी से पहले इसके बारे में ना तो लड़की को बताया जाता है और न ही उसके परिवार को.
 
लड़कियों को चुनने की वजह से विवाद में भी फंसे हैं मस्वाती तृतीय
 
लड़की या लड़की के परिवार को न बताने की परंपरा की वजह से कई बार राजा मस्वाती तृतीय की शादी को लेकर विवाद भी हुआ है. 2002 में 18 साल की लड़की ज़ेना महलंगु को राजा ने शादी के लिए पसंद कर लिया तो उस लड़की की मां शादी रोकने और शाही कब्जे से जे़ना को रिहा कराने के लिए कोर्ट चली गई थी.
 
राजा ने ज़ेना महलंगु से से अपनी 10वीं रानी के तौर पर शादी की थी. ज़ेना के साथ ही दो और लड़कियों को परेड के बाद शाही सेना ने उठा लिया था जिनमें एक नोलिक्वा अयांदा टेनटेसा भी थी.
 
दो सहेलियों से दो महीने के अंतराल पर शादी की मस्वाती तृतीय ने
 
ज़ेना और नोलिक्वा एक ही स्कूल में पढ़ती थीं और दोनों सहेली भी थीं. राजा ने जे़ना से शादी के दो महीने बाद ज़ेना की इस दोस्त नोलिक्वा से भी शादी कर ली. नोलिक्वा राजा की 11वीं पत्नी बनी थीं.
 
राजा मस्वाती तृतीय ने नोलिक्वा के बाद अब तक तीन और शादियां की हैं और उनकी पत्नियों की कुल संख्या इस समय 14 है जिनसे वो 30 बच्चों के पिता हैं.