नई दिल्ली. भारत सहित पाकिस्तान और अफगानिस्तान में आए भूकंप से अबतक करीब 280 लोगों की मौत हो गई है जबकि 1800 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है. भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.5 मापी गई है. अफगानिस्तान के तखार प्रांत में भूकंप के कारण एक स्कूल में मची भगदड़ से 12 छात्राओं की मौत हो गई. अफगानिस्तान में 60 से ज्यादा लोगों को भूकंप में जान गंवानी पड़ी है. सबसे ज्यादा नुकसान उत्तरोत्तर पाकिस्तान में हुआ है. पाकिस्तान के खैबर पख्तूनवा प्रांत में अकेले 179 लोगों की मौत हुई है. पाकिस्तान में अभी तक 214 लोगों की मौत हो चुकी है. 
 
पिछले दस सालों में ये सबसे शक्तिशाली भूकंप है. भारी नुकसान की आशंका को देखते हुए सरकार ने व प्रभावित इलाकों में राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया है. भारत, अमेरिका और ईरान ने  भूकंप से प्रभावित इलाकों के लिए मदद की पेशकश की है लेकिन दोनों देशों ने अभी तक मदद नहीं मांगी है. 
 
वेबसाइट ‘द हिमालयन पोस्ट’ की रिपोर्ट के मुताबिक़ अफगानिस्तान, पाकिस्तान और भारत में आए भूकंप के बाद नेपाल की राजधानी काठमांडू सहित कई हिस्सों में भी झटके महसूस किए गए.  
 
2005 में पाकिस्तान प्रशासित कश्मीर में 7.5 तीव्रता के भूकंप ने भारी तबाही मचाई थी और इसमें करीब 75,000 लोग मारे गए थे. इसी साल अप्रैल में आए भूकंप से नेपाल में भारी तबाही हुई थी जिसमें करीब 9000 से ज्यादा लोग मारे गए थे और करीब 90000 से ज्यादा घर जमींदोज हो गए थे.