लंदन. पंजाब में धार्मिक ग्रंथ के अपमान का विरोध लंदन में भी दिखा. सिखों की संस्था सिख लाइव्स मैटर्स के मेंबर्स ने इंडियन एंबेसी के बाहर विरोध-प्रदर्शन करा जिसमें पुलिस ने हिंसा के आरोप में 20 सिखों को अरेस्ट किया है. खबरों के मुताबिक प्रदर्शन के दौरान एक पुलिकर्मी भी घायल हो गया. 
 
पुलिस के मुताबिक, ”हमारे ऑफिसर्स भी प्रदर्शनकारियों से शांतिपूर्वक ढंग से प्रोटेस्ट करने की रिकवेस्ट कर रहे थे, ताकि पब्लिक परेशान न हो। इसके बावजूद, उन्होंने पुलिस के खिलाफ हिंसक रवैया अपनाया। झड़प में एक पुलिसवाले को सिर में चोट आई है
 
बता दें कि इससे पहले पंजाब में  धार्मिक ग्रंथ के फटे पन्ने मिलने के बाद विरोध शुरु हो गया जिसके बाद पंजाब में भारी प्रदर्शन हुआ. पुलिस कार्रवाई में दो लोगों के मौत हो गई थी. विरोध में गुरुवार को सिख सेंट्रल लंदन स्थित इंडियन एंबेसी के बाहर इकट्‌ठा हुए. थोड़े समय तक शांत चले प्रदर्शन ने हिंसा का रुप ले लिया जिसे सभांलने के लिए पुलिस को सख्ती अपनानी पड़ी. 
 
सिख लाइव्स मैटर्स के स्पोक्सपर्सन जसवीर सिंह गिल ने बताया कि इस प्रोटेस्ट का मकसद भारत सरकार को यह बताना था कि पंजाब में हुई घटना पर ब्रिटेन के सिख एकजुट हैं.