पनामा सिटी. अमेरिकी देशों के एक ऐतिहासिक शिखर सम्मेलन में अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा और क्यूबा के राष्ट्रपति राउल कास्त्रो एक नए युग का ऐलान करते हुए द्विपक्षीय वार्ता से पहले इस सम्मेलन को संबोधित किया. पनामा सिटी में ओबामा और कास्त्रो करीब 30 क्षेत्रीय नेताओं के साथ बैठे और एक दूसरे के बाद अपना संबोधन किया.

ओबामा ने कहा, ‘अमेरिकी नीति में यह बदलाव हमारे पूरे क्षेत्र के लिए निर्णायक मोड़ के तौर पर है. राष्ट्रपति कास्त्रो और मैं, दोनों यहां बैठे हैं जो ऐतिहासिक अवसर है.’ वहीं कास्त्रो ने कहा, ‘राष्ट्रपति ओबामा एक ईमानदार व्यक्ति हैं.’ हालांकि इस दौरान दोनों नेताओं ने स्वीकार किया कि अमेरिका और क्यूबा के बीच आगे भी मतभेद जारी रहेंगे. पनामा सिटी के कन्वेंशन सेंटर में शनिवार को आयोजित सम्मेलन में पनामा के राष्ट्रगान के समय ओबामा और कास्त्रो तीन पंक्तियों की कतार में दूसरी पंक्ति में खड़े हुए. उनके बीच में इक्वाडोर और अल सल्वाडोर के राष्ट्रपति थे.

ओबामा और कास्त्रो के एक ही कमरे में एक साथ मौजूदगी राजनयिक संबंधों की दिशा में एक नई शुरुआत का प्रतीक बन गया जो कि 1961 से टूटा था. यह पिछले 21 वर्षों के इतिहास में पहला मौका है, जब क्यूबाई राष्ट्रपति इस सम्मेलन में शामिल हुए हैं. दो दिवसीय शिखर सम्मेलन में भाग लेने के लिए दोनों देशों के राष्ट्राध्यक्ष अलग-अलग पहुंचे थे और दोनों मुस्कुराते दिखे. ओबामा और कास्त्रो ने एक बार पहले भी दिसंबर 2013 में नेल्सन मंडेला के अंतिम संस्कार के दौरान आपस में हाथ मिलाया था. अमेरिकी अधिकारियों का कहना है कि आज दोनों नेताओं के बीच व्यापक चर्चा हो सकती है. इससे पहले दोनों देशों के नेताओं की अंतिम मुलाकात क्यूबाई क्रांति से तीन साल पहले 1956 में हुई थी.
IANS