नई दिल्ली. यमन में बढ़ती हिंसा के बीच एक 6 साल के बच्चे फ़रीद शावकी के वीडियो ने पूरी दुनिया को झकजोर कर रख दिया है. बमबारी से बुरी तरह घायल अस्पताल के बिस्तर पर रोते हुए एक यमनी बच्चे का वीडियो वायरल हो गया है जिसमें वो डॉक्टर से फ़रियाद कर रहा है कि मुझे दफ़न मत करो और कहते-कहते उसकी आंखों से आंसू टपक पड़ते हैं. एजे प्लस ने फरीद का वीडियो शेयर किया है जिसे 50 हजार से ज्यादा लोग देख चुके हैं. 
 

Fareed Shawky, a Symbol of Yemen’s Suffering

This young boy on his deathbed has become a symbol of the suffering in Yemen.

Posted by AJ+ on Tuesday, October 20, 2015

 
मिसाइल हमले में फ़रीद शावकी की हुई मौत
बता दें कि यमन में हूती विद्रोहियों के एक मिसाइल हमले में फ़रीद शावकी को गंभीर चोट आई थी. 13 अक्टूबर को यमन में वह सऊदी नेतृत्व वाले हवाई हमले का टारगेट बना था. फ़रीद के सिर और शरीर के बाक़ी हिस्सों में गंभीर चोटें लगी थी और अंदरूनी रक्तस्राव भी हो रहा था.  फ़रीद के लिए यह चोट जानलेवा साबित हुई और वीडियो बनने के तीन दिनों के बाद उसकी मौत हो गई.
 
अहमद बाशा: फ़रीद के शब्दों से मेरा दिल टूट गया
हॉस्पिटल में लेटे फ़रीद के ट्रीटमेंट वाले वीडियो को यमन के फोटोग्राफर अहमद बाशा ने शूट किया है. ट्रीटमेंट के दौरान फरीद ने फ़रियाद करते हुए कहा था, ‘मुझे  दफ़न मत करो, मुझे दफ़न मत करो.’  इस पर डॉक्टर ने बच्चे को हिम्मत बधाते हुए कहा था “घबराओ मत फ़रीद, तुम्हें कुछ नहीं होगा.’ फोटोग्राफर अहमद ने इसके बारे में कहना है कि उसके शब्द मेरे कानों में हमेशा गूंजते रहेंगे. सोशल मीडिया में कई जगह फरीद को सीरियन रिफ्यूजी अयलान कुर्दी जैसा भी बताया है.  
 
हमलों में कई नागरिक मारे जा चुके  
संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक़, अभी तक मार्च 2015 से सितम्बर 2015 तक 2300 यमन के नागरिक हमलों में मारे जा चुके हैं. मरने वाले 2300 लोगों में 500 से ज्यादा बच्चे शामिल हैं. सोशल मीडिया पर कई यूजर्स  #DontBuryMe, #RIPFarid के साथ ट्वीट कर रहे हैं. सोशल मीडिया पर यूजर्स यमन में शांति की अपील कर रहे हैं. पिछले 6 महीनों से सऊदी नेतृत्व यमन पर लगातार हमले कर रहा है.