नई दिल्ली. बुलेटिन ऑफ़ दी एटॉमिक सायंटिस्ट्स रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान के पास वर्तमान में 110 से 130 परमाणु हथियारों का जखीरा मौजूद है. 2011 में यही आंकड़ा 90 से 110 परमाणु हथियारों का था. अगर इसी रफ़्तार से पाकिस्तान का परमाणु जखीरा बढ़ता रहा तो 2025 तक पाकिस्तान 5वीं बड़ी परमाणु शक्ति बन जाएगा. 
 
एक अंग्रेजी अखबार टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक़, पाकिस्तान के ऐटमी हथियारों के जखीरे की सबसे विवादस्पद नई परमाणु सक्षम मिसाइलों में एनएएसआर शामिल है. यह छोटी दूरी के लिए मारक क्षमता वाली मिसाइल है. इस मिसाइल की मारक क्षमता 60 किलोमीटर तक है. 
 
रिपोर्ट में क्रिस्टेंसन ने अखबार को बताया कि पाकिस्तान के परमाणु हथियार भारतीय हमले के खिलाफ इस्तेमाल के लिए बनाए गए हैं. रिपोर्ट के मुताबिक़,  यदि  इसी रफ़्तार से पाकिस्तान का परमाणु जखीरा बढ़ता रहा तो 2025 तक पाकिस्तान के पास 220 से 250 परमाणु हथियार हो जाएंगे और पाकिस्तान दुनिया की 5वीं बड़ी परमाणु शक्ति बन जाएगा.