वॉशिंगटन. अमेरिका की मल्टीनेशनल रिटेल कंपनी वॉलमार्ट पर भारत में करोड़ों रुपए की रिश्वत देने के गंभीर आरोप लगे हैं. एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, वॉलमार्ट ने लोकल ऑफिसर्स को घूस देकर उनसे कस्टम और रियल एस्टेट से जुड़े परमिट हासिल किए. हालांकि इस रिपोर्ट पर वॉलमार्ट की ओर से कोई बयान नहीं आया है. वॉलमार्ट के भारत में 21 रिटेल स्टोर हैं. अगले पांच साल में वह अपने स्टोर बढ़ाकर 50 करना चाहती है.
 
क्या है पूरा मामला
अमेरिकी न्यूजपेपर वॉल स्ट्रीट जर्नल ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि वॉलमार्ट ने भारत में अपना सामान कस्टम से छुड़ाने या रियल एस्टेट के परमिट हासिल करने जैसे कई कामों के लिए पांच डॉलर (350 रु) से 200 डॉलर (13 हजार रुपए) तक ऑफिसर्स में बांटे. यह रिश्वत कई ट्रांजेक्शंस के दौरान कई बार, कई लोगों को दी गई. इस तरह से वॉलमार्ट ने लोकल लेवल पर करोड़ों रुपए की घूस दी. बता दें कि 6 साल एकसाथ बिजनेस करने के बाद वॉलमार्ट और भारती इंटरप्राइजेज की भारत में रिटेल चेन चलाने की डील 2013 में टूट गई थी. इसके बाद वॉलमार्ट ने भारत में अकेले कारोबार का फैसला किया था. इससे पहले वॉलमार्ट पर मैक्सिको में अपने ऑपरेशन के दौरान बड़े पैमाने पर करप्शन करने के आरोप लगे हैं.