अंकारा. तुर्की की राजधानी अंकारा में शनिवार को एक के बाद एक हुए दो धमाकों में 95 लोगों की मौत हो गई और करीब 246 लोग घायल हुए हैं. धमाके शहर के मुख्य रेलवे स्टेशन पर हुए. चश्मदीदों के मुताबिक धमाके इतने तेज थे कि आसपास की इमारतें भी हिल गईं. तुर्की सरकार ने इसे आतंकी हमला करार दिया है.
 
तुर्की के राष्ट्रपति रेकेप तैयिप एरदोगान ने ‘इस जघन्य’ हमले की निंदा करते हुए कहा है कि इसका मकसद हमारी एकता और हमारे देश की शांति को भंग करना था. रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन और फ्रांस के राष्ट्रपति फ्रांसवा ओलोंद ने भी इस हमले की निंदा की है. इसके अलावा ब्रिटेन के प्रधानमंत्री डेविड कैमरून ने भी हमले दुःख व्यक्त किया है. तुर्की में ऐसे समय में ये विस्फोट हुए हैं, जब वहां 1 नवंबर को चुनाव होना है. 

 
 
ये दोनों धमाके शांति मार्च के दौरान हुए. ये शांति मार्च कुर्दिश विद्रोहियों और सरकार के बीच जारी संघर्ष के विरोध में किया जा रहा था. फिलहाल किसी भी आतंकी संगठन ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. मरने वालों की संख्या बढ़ने की आशंका जताई जा रही है.