नई दिल्ली. डिजिटल इंडिया और Intrnet.org  के बीच हुए विवादित मामले को लेकर फेसबुक ने सफाई दी है. फेसबुक के प्रवक्ता ने बताया कि तिरंगे वाली डीपी और internet.org के बीच किसी तरह का कनेक्शन नहीं है.
 
उन्होंने हफिंगटन पोस्ट से बात करते हुए कहा, ‘निश्चित रूप से डिजिटल इंडिया के लिए प्रोफाइल पिक्चर बदलना और internet.org के बीच कोई संबंध नहीं है. एक इंजीनियर ने कोड के हिस्से के शॉर्टहैंड नाम के तौर पर गलती से ‘internet.org profile picture’ शब्द का इस्तेमाल किया. लेकिन इस प्रॉडक्ट का internet.org के लिए रजिस्टर्ड सपोर्ट के साथ कोई कनेक्शन नहीं है.’ फेसबुक ने कहा कि कन्फ्यूजन को दूर करने के लिए हम कोड को बदल रहे हैं.
 
क्या और क्यों रहा विवाद?
अपनी दूसरी अमेरिकी यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब फेसबुक के हेडक्वॉर्टर पहुंचने वाले थे. उससे ठीक पहले फेसबुक के संस्थापक मार्क जुकरबर्ग ने अपना प्रोफाइल पिक्चर तिरंगे के रंग में रंगा था. इससे वह भारत में डिजिटल इंडिया का सपोर्ट कर रहे थे. उनके बाद भारत में तेजी से यूजर्स ने ऐसे ही डीपी के रंग बदले.
 
इसी दौरान किसी ने नोटिस किया कि जब आप अपनी प्रोफाइल पिक्चर को बदलते हैं, नीचे आने वाले html कोड में Internetorg लिखा दिखाई दे रहा है फिर कुछ यूजर्स ने पोस्ट लिखा कि डिजिटल इंडिया के समर्थन में अपनी डीपी बदलने से आप अपने आप Internet.org को अपना समर्थन दे देते हैं. Internet.org फेसबुक की एक विवादास्पद पहल रही है जिसका उद्देश्य मुफ्त में बेसिक इंटरनेट की सर्विस ऐसे लोगों को उपलब्ध कराना है जो इंटरनेट का फुल वर्जन इस्तेमाल कर पाने में सक्षम नहीं हैं.