नई दिल्ली. नेपाल ने भारतीय चैनलों के संविधान पर डिबेट कराए जाने बाद सोमवार सुबह 10 बजे से सभी भारतीय टीवी चैनलों को बैन कर दिया गया है. सभी केबल कम्पनी ने संयुक्त रूप से निर्णय करते हुए भारतीय चैनल्स को केबल से हटा दिया है. इनकी जगह पर पाकिस्तानी चैनल और चीनी चैनल दिखाए जा रहा है. 
 
फेडरेशन ऑफ केबल टेलीविजन एसोसिएशन के अध्यक्ष सुशील प्रजौली ने कहाकि उन्होंने भारतीय चैनलों का प्रसारण बंद करने का फैसला लिया है क्योंकि भारत नेपाल की संप्रभुता में दखल दे रहा है. नेपाल मे जारी माधेश आन्दोलन में भारत के सपोर्ट आरोप के तहत भारत विरोधी गतिविधियां नेपाल मे तेज हो गईं है. हिन्दी फिल्में, भारतीय नंबर प्लेट वाली गाड़ियां भी बैन कर दी गईं हैं. इस पर माओवादि पार्टी ने कुछ दिन पहले अह्वान किया था. सरकार के एक मन्त्री ने बताया कि ये केबल कम्पनियों का निजी निर्णय है. सरकार इसका सपोर्ट नहीं करती.
 
नेपाल में बीते हफ्ते ही नया संविधान लागू हुआ है जिसके चलते वहां मधेसी और थारू समुदायों का विरोध जारी है. इनका मानना है कि इस संविधान में उनके अधिकारों की अंदेखी की गई है. आपको बता दें कि अब तक संविधान के प्रदर्शन में 40 लोगों की मौत हो चुकी है.