रामाल्लाह/गाजा. फिलिस्तीन में  अल अक्सा मस्जिद पर हुए हमले के विरोध में लोगों ने वेस्ट बैंक और गाजा पट्टी में विरोध प्रदर्शन किया. सैकड़ों प्रदर्शनकारियों ने यहूदी सुरक्षाबलों के मस्जिद में घुसने पर विरोध किया. इन झड़पों में 2 प्रदर्शनकारियों को गोली लगी है और कई प्रदर्शनकारी घायल हुए हैं. अल अक्सा मस्जिद में हुई झड़पों के बाद यहूदी सुरक्षा बलों ने भीड़ को तितर-बितर करने के लिए इजरायली सुरक्षाबलों ने प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज, आंसू गैस के गोले और वाटर कैनन का इस्तेमाल किया. इजरायली सुरक्षाबलों के अनुसार,कई प्रदर्शनकारियों ने इजरायली सुरक्षाबलों पर पथराव किया.
 
कई फिलिस्तीनी हुए घायल 
फिलिस्तीन के चिकित्सा सूत्रों के मुताबिक, पुलिस के झड़पों में दो फिलिस्तीनियों को गोली लगी. चार फिलिस्तीनी रबर की गोली से घायल हुए और करीब 12 से अधिक प्रदर्शनकारियों को सांस लेने में तकलीफ का सामना करना पड़ा. 
 
क्या है विवाद ?
दरअससल अल-अक्सा, मुस्लिमों का तीसरा सबसे पवित्र स्थल है. इसे हरम अल शरीफ भी कहा जाता है. यह मस्जिद यहूदियों के लिए भी काफी खास है. यहूदी इसे ‘टेंपल माउंट’ कहकर बुलाते हैं. इसलिए यह स्थान इजरायल व फिलिस्तीन के लोगों के बीच राजनीतिक व धार्मिक तनावों का स्रोत रहा है और यहां इस तरह की हिंसा की घटनाएं होती रहती हैं. इजरायल के रक्षामंत्री मोशे यालून ने हाल ही में दो मुस्लिम समूहों को गैर कानूनी करार दिया था, जिनका परिसर में आने वाले यहूदी लोगों से टकराव हुआ था.
 
सऊदी अरब ने दी इजरायल को दी सख्त चेतावनी
 
ने यरुशलम के अल-अक्सा मस्जिद परिसर में नमाजियों पर हुए इस्राइल के जोरदार हमले की कड़ी निंदा की है. अरब न्यूज में छपी एक खबर के मुताबिक सऊदी ने इस्राइल की इस कार्रवाई की शिकायत अमेरिकी प्रेसीडेंट बराक ओबामा, रुस के प्रेसीडेंट ब्लादिमीर पुतिन, ब्रिटिश प्रधानमंत्री डेविड कैमरुन और  संयुक्त राष्ट्र प्रमुख बान की मून से फोन पर की है.
 
सऊदी के किंग सलमान ने यूएन सिक्योरिटी काउंसिल से हिंसा को रोकने, मस्जिद और फिलिस्तीन के नागरिकों को बचाने की मांग की है. किंग ने कहा है कि इस तरह की घटना दुनिया में हिंसा बढ़ा सकती है. सऊदी ने कहा है कि इस्राइल की इस कार्रवाई से मुस्लिमों के तीसरे सबसे बड़े पवित्र स्थल की पवित्रता भंग होती है और यह इंटरनेशनल कानून का भी उल्लंघन है. इसके अलावा इस्लामिक मूवमेंट ऑफ हमास के नेता रादवान ने चेतावनी देते हुए कहा कि अल अक्सा के बचाव के लिए विरोधी पक्ष के सामने सभी विकल्प खुले हैं. 
 
IANS