तिरुअनंतपुरम. केरल के मुख्यमंत्री ओमन चांडी ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से अफ्रीका में फसे भारतवासियों की जल्द से जल्द मदद करने का अनुरोध किया है. अफ्रीका की टोगो जेल में केरल के चार व्यक्ति बंद हैं. ये चारों भारतवासी जुलाई 2013 में शिपिंग कंपनी में नौकरी के लिए अफ्रीकी देश पहुंचे थे. इसके अलावा कांगो में चार नर्सें भी फसी हुई हैं. ये सभी जल्द से जल्द अपने वतन लौटना चाहते हैं. 
 
टोगो की जेल में कैद एक कैदी नितिन बाबू की पत्नी निलीना नितिन ने बताया कि वे बेहद बुरी परिस्थितियों में वहां फसे हुए हैं. हर माह चारों व्यक्तियों के परिवार वाले उन्हें जरूरी खर्च के लिए पैसे भेज रहे हैं. इसके अलावा निलीना ने कहा कि हमने एक महिला से संपर्क किया है, जो इस मामले में हरसंभव मदद कर रही है.
 
क्या है मामला?
आपको बता दें कि बाबू के साथ उनके भाई अरुण बाबू और दो अन्य व्यक्ति गोडविन और शाजी भी टोगो की जेल में कैद हैं. इसके अलावा चार नर्सें महीनों पहले कांगो के एक अस्पताल में नौकरी मिलने के बाद यात्रा वीजा पर वहां गई थीं, लेकिन जब उन्होंने लौटने की इच्छा जाहिर की तो वे मुसीबत में फंस गईं. उन्हें कांगो में ज्यादा समय तक रहने के लिए भारी हरजाना देना पड़ रहा है.  
 
IANS