कोच्चि. यमन से निकाले गए 334 भारतीय नागरिकों को लेकर भारतीय वायुसेना के दो विमान शुक्रवार देर रात मुंबई पहुंचे. अब तक हिंसा प्रभावित यमन से अब तक कुल 692 भारतीयों को भारत वापस लाया गया है. यात्रियों में 130 केरल निवासी और चार बच्चे भी शामिल हैं. यमन से लौटी एक नर्स ने बताया कि वहां हालात बहुत खराब हैं.

एक अन्य व्यक्ति ने बताया कि यमन में स्थिति अब वास्तव में बेहद संकटपूर्ण है. वहां लगभग 8,000 भारतीय हैं, जिनमें से लगभग 6,000 नर्से हैं. यमन से वापस आए एक व्यक्ति ने बताया, ‘अकेले सना में 4,000 भारतीय स्वदेश लौटने का इंतजार कर रहे हैं.’

इस बीच यमन से केरल की नर्स ने फोन पर मीडिया को बाताया कि उनके साथ कुछ और भी लोग हैं, जो अदन बंदरगाह पर पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं. नर्स ने बताया, ‘हम रास्ते में थे, तभी वाहन पर गोलियां चल गईं. गोलियां टायरों में लगी थीं, जिस कारण हमें वापस लौटना पड़ा. हम अदन बंदरगाह पर पहुंचने का इंतजार कर रहे हैं. हमें बताया गया था कि हमें वापस ले जाने के लिए एक जहाज आया है. हम सभी प्रार्थना कर रहे हैं.’