नई दिल्ली. अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम को लेकर पाकिस्तान पत्रकार आरिफ जमाल ने खुलासा किया है कि 1993 के मुंबई ब्लास्ट का मास्टर माइंड पाकिस्तान में ही रहता है. आरिफ जमाल ने दाऊद के बारे में खुलासा करते हुए कहा कि जब वह लाहौर में रहते थे तो उस समय दाऊद का भाई उनका पड़ोसी था.
 
हाल ही एक टीवी चैनल ने जर्नलिस्ट जमाल के हवाले से यह खुलासा किया है कि दाऊद को पाकिस्तान सरकार, सेना और आईएसआई का पूरा सपोर्ट है. यह पाकिस्तान की भारत विरोधी स्ट्रैटजी का हिस्सा है. दरअसल, पाकिस्तान दाऊद ही नहीं, हर उस ताकत को पनाह देता है जो भारत को मात देने में मदद कर सकती हो. दाऊद इसी स्ट्रैट्जी का एक पार्ट है.
 
कहां और कैसे हुई मुलाकात?
जमाल ने कहा, ‘मैं केवल इतना कहूंगा कि मेरी दाऊद से मुलाकात कराची में हुई थी, लेकिन इससे ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा. जहां मेरी उससे मुलाकात हुई, वह डिफेंस एरिया था. मैं दाऊद से दो बार मिला और दोनों ही बार हमें सिक्युरिटी चेक ज्यादा नहीं मिले. दरअसल, दाऊद जिन लोगों से मिलना चाहता है, उनके बारे में अपनी सिक्युरिटी टीम को पहले ही बता देता है.’
 
जमाल ने बताया कि पाकिस्तान के कई लोग कराची में दाऊद से मिलते हैं और वह कराची में फ्री लाइफ जीता है. उसका वहां पता लगाना मुश्किल काम नहीं है. मैंने अपने एक कॉमन फ्रेंड के जरिए दाऊद का पता लगाया और अपने दोस्त से कहा कि उसका इंटरव्यू लेना चाहता हूं. मैं उसका इंटरव्यू तो नहीं कर पाया, लेकिन उससे दो बार मुलाकात हुई. जर्नलिस्ट ने पाकिस्तान की इंटेलिजेंस एजेंसी आईएसआई और आतंकी संगठनों के रिश्तों पर एक किताब भी लिखी है. उनके कई आर्टिकल्स अमेरिका और दुनियाभर के अखबारों में पब्लिश होते रहे हैं. फिलहाल वह वर्जीनिया में रह रहे हैं.